शहर में जल समस्यायों को लेकर पार्षदों का निगम के खिलाफ गोलबन्द

दरभंगा में लगातार बढ़ रही पीने के संकट को देखते हुए पार्षदों की एक आपातकालीन बैठक शुक्रवार को वार्ड संख्या 30 के पार्षद जीनत प्रवीन के आवास पर हुई। इस बैठक में लगभग दो दर्जन की संख्या में पार्षदों ने भाग लिया। शहर में पीने योग्य पानी की समस्याओं के समाधान के लिए विचार विमर्श किया गया। आने वाले दिनों में जल संकट और विकराल रूप ले सकती है इस गम्भीर समस्या से निपटने के लिए गहन विचार विमर्श किया गया। वर्तमान में शहर में सरकारी स्तर पर सालों से कछुए की रफ्तार के साथ पीएचइडी काम कर रही है।

उसे घर घर पीने योग्य पानी पहुंचाने की जिम्मेदारी दिया गया था जिसमें वह पूरी तरह से विफल हो रही है। जल स्तर में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। जितनी बड़ी पीने के पानी की समस्या दरभंगा में हो रही है उतनी तो दूसरे शहरों में नहीं होती है। आज की बैठक की अध्यक्षता वार्ड संख्या 41 के पार्षद शंकर प्रसाद जयसवाल ने किया। सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि जो भी चापाकल बंद पड़े हैं उन्हें भी जल्द से जल्द चालू कराने एवं कम से कम प्रत्येक वार्ड में 4 समरसेबल लगाया जाए।

बैठक में निर्णय लिया गया के नगर आयुक्त से मिलकर बहुत जल्द पार्षदों के एक दल की ओर से पत्र दिया जाएगा। मांगों को लेकर अगर निगम के द्वारा जल्द से जल्द इस जल संकट का निदान नहीं निकाले गए तो पार्षदगण जन आंदोलन करेंगे जिसमें जनता हमारे साथ होगी। बैठक में वार्ड पार्षद रियासत अली टिंकू, मधुबाला सिन्हा सहित पूर्व वार्ड पार्षद और पार्षद प्रतिनिधि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!