राजद के कद्दावर नेता फातमी के चुनाव लड़ने पर संशय आज भी बरकरार, निर्णय में हो रही देरी से समर्थकों की चिंता बढ़ी

राजद के कद्दावर नेता सह पूर्व केंद्रीय मंत्री मो. अली अशरफ फातमी का चुनाव लड़ने पर संशय आज भी बरकरार रहा। गौरतलब हो कि विगत कुछ दिन पूर्व उन्होंने प्रेसवार्ता के दौरान 03 अप्रील को अपने फैसले पर मुहर लगाने की बात कही थी। लेकिन पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार बहुउद्देश्यीय भवन दरभंगा में आज कार्यक्रम तो हुआ लेकिन आज भी वो किसी नतीजे पर नही पहुँचे सके। आज के कार्यक्रम से लग रहा था कि वो भीड़ जुटाकर पार्टी नेतृत्व पर दबाव बना रहे हो। कार्यक्रम में भीड़ तो काफी थी जिसमे बड़े छोटे कई कार्यकर्ता भी देखने को मिले। अपने पूरे भाषण में श्री फातमी ने अपनी छात्र राजनीति से लेकर राजद में अपने गुज़ारे हुए ईमानदारी से उन पलों को भी लोगो के बीच बांटा जिसका पार्टी को कोई असर नही हो रहा हो।

इशारों ही इशारों में महागठबंधन के कई कद्दावर नेताओं पर भी उन्होंने सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि जो नेता पार्टी तोड़ने के लिए कई विधायक को गोलबंद कर लिया हो और जो लालू जी को जेल तक भेजा हो आज पार्टी ने उनलोगों को भी टिकट तो दिया लेकिन मेरी ईमानदारी के कारण मेरा ही टिकट ही काट लिया। अब देखना है कि आज के कार्यक्रम से पार्टी नेतृत्व पर कोई दबाव बन पाता है या नही।

इसी बीच विश्वस्त सूत्रों से एक खबर आ रही है कि मधुबनी लोकसभा सीट से राजद के नेता बद्री पूर्वे उर्फ राजू पूर्वे को उम्मीदवार बनाया जा चुका है! संभवतः कल इसकी औपचारिक घोषणा भी हो जाए। यदि इस खबर पर मुहर लगती है तो श्री फातमी अब आगे क्या करेंगे ये सभी को इंतेज़ार रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!