सुशांत सिंह को लेकर सवर्ण सेना ने कहा महाराष्ट्र पुलिस नहीं कर रही है निष्पक्षता से जांच सीबीआई जांच की जाए

पटना :- सुशांत सिंह को मिले न्याय और जस्टिस फॉर सुशांत सिंह अभियान की शुरुआत करते हुए सवर्ण सेना के अध्यक्ष भागवत शर्मा ने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है. उन्होंने कहा कि बॉलीवुड माफिया की ओर से सुशांत सिंह राजपूत की सुनियोजित ढंग से हत्या की गई है.

बॉलीवुड के खानदानी कलाकारों को था उनसे डर
सवर्ण सेना अध्यक्ष ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत के पीछे बॉलीवुड के माफिया पिछले काफी समय से पड़े हुए थे वह सभी सुशांत सिंह राजपूत तो आगे बढ़ता देख और सफलता की सीढ़ियां झुमते व लोकप्रियता व सफलता से जलते थे. सुशांत लगातार अपने मेहनत और काबिलियत के दम पर बॉलीवुड में सफलताओं की झड़ी लगा रहे थे. इस वजह से बॉलीवुड के जो खानदानी कलाकार हैं उनको यह डर लग रहा था इंडस्ट्री में उनकी वैल्यू खत्म हो जाएगी.

सुशांत की हत्या को आत्महत्या करार दिया जा रहा है
उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत ने ना तो कोई सुसाइड नोट छोड़ा है और ना ही अपने किसी भी मित्र या सगे संबंधी को इस तरह की कोई संदेश छोड़ा जिसमें उन्होंने यह संकेत किया हो वो आत्महत्या कर रहे हैं. लेकिन मीडिया का एक तबका जानबूझकर सुशांत सिंह राजपूत की हत्या को शुरू से ही आत्महत्या करार देने की पुरजोर कोशिश करता रहा है.

सवर्ण सेना अध्यक्ष ने कहा महाराष्ट्र सरकार की ओर से की जा रही जांच भी निष्पक्ष तरीके से नहीं हो पा रही है. उसे भी जबरदस्ती आत्महत्या के एंगल से ही देखा जा रहा है. यह संभव है कि महाराष्ट्र पुलिस बॉलीवुड माफियाओं के दबाव में काम कर रही हो. इसलिए यह बहुत जरूरी है कि सुशांत सिंह राजपूत के हत्या के मामले की जांच सीबीआई से करवाई जाए.

सुशांत की मौत के बाद परिजनों से नहीं मिले सीएम
भागवत शर्मा ने बिहार सरकार पर और विशेषकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बिहार के सबसे प्रतिभाशाली युवा कलाकार की हत्या पर चुप्पी साधने एवं नाइंसाफी करने का आरोप भी लगाया. उन्होंने कहा कि आज तक सुशांत सिंह राजपूत की हत्या के बाद नीतीश उनके परिजनों से मिलने भी नहीं गए और ना ही उनकी हत्या की जांच के लिए सीबीआई जांच की मांग की.

बिहार सरकार को चाहिए था कि वह महाराष्ट्र सरकार को पत्र लिखकर इस वेल प्लांट हत्याकांड की जांच सीबीआई से करवाने की मांग करती. लेकिन सीएम ने बिहार के सपूत की अनदेखी की है और केवल अपने राजनीतिक हितों को साधने के लिए एमएलसी के दलबदल में व्यस्त हैं. उन्हें बिहार के युवाओं की बिहार के सपूतों की कोई परवाह नहीं.

सुशांत सिंह की फिल्म को टैक्स फ्री कर सिनेमाघरों में किया जाए रिलीज

सवर्ण सेना यह मांग करती है कि सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर राजगीर में बन रहे फिल्म सिटी का नामकरण हो उनकी आखिरी फिल्म दिल बेचारा को लॉकडाउन की समाप्ति के बाद टैक्स फ्री करते हुए देश के सभी सिनेमाघरों में रिलीज किया जाए और सुशांत सिंह राजपूत को भारत सरकार पद्मश्री से सम्मानित करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!