डीएमसीएच / रेफरल अस्पतालों में चिकित्सा सेवा तत्काल शुरू होगी.

डीएमसीएच / रेफरल अस्पतालों में चिकित्सा सेवा तत्काल शुरू होगी.

राशन वितरण में गड़बड़ी करने वाले डीलरों पर दर्ज़ होगी प्राथमिकी.

गेँहू की अधिप्राप्ति कार्य तेज़ करने का निर्देश.

जिलाधिकारी दरभंगा ने सरकार के मुख्य सचिव के द्वारा दिनांक 11अप्रैल को वीडियो कॉनफेरेन्स मे दिए गये निर्देश के अालोक में आज कार्यालय प्रकोष्ठ मे जिलास्तरीय पदाधिकारियों के साथ एक बैठक कर उन्हें सरकार के निर्देशों का अनुपालन करने हेतु निर्देशित किये .

इसमें मुख्य रूप से डी.एम.सी.एच. एवं अन्य अनुमंडलीय अस्पतालों / रेफरल अस्पतालों में तत्काल चिकित्सा सेवा बहाल करने, सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में पूर्ब की व्यवस्था की तरह डॉक्टरों को बीमार लोंगो के घर पर भेजकर उन्हें चिकित्सा सुबिधा जारी रखने एवं सभी पी.एच.सी. में कम से कम एक एम्बुलेंस सामान्य मरीजों के लिये हर हमेशा तैयार रखने का निर्देश शामिल है.
साथ ही सभी एमओआईसी को बीडीओ, सीओ, एसएचओ आदि अधिकारियों के साथ समन्वय बनाकर विदेश यात्रा कर आये लोंगो की दुबारा जाँच करा लेने, अप्रवासी मजदूरों को विल्लेज क्वारंटाइन मे 14 दिनों तक अनिवार्य रूप से रखने एवं उनके स्वास्थ्य पर बराबर नज़र रखने एवं गावों मे ग्राम पंचायत मुखिया के माध्यम से ब्लीचिंग पॉवडर का छिड़काव कराने को कहा गया है.

सिविल सर्जन एवं सभी एमओआईसी को निजी चिकित्स्कों के साथ बैठक करके उनके क्लिनिक में सर्दी, खांसी बुखार, फ्लू आदि का इलाज कराने आने वाले मरीजों की तहकीकात कर लेने को कहा गया है कि कहीं इनमे किसी को कोरोना का लक्षण तो नहीं है न. कहा कि ऐसे मरीजों का पता लगते ही तुरंत डीएमसीएच में जाँच की जाये.
ड्रग निरीक्षकों को दवा दुकानों का निरंतर जाँच जारी रखने को कहा गया है.

वहीं सभी एसडीओ, बीडीओ एवं पणन पदाधिकारियों को पीडीएस खाद्यान्न का सही तरिके से वितरण कराने, पीडीएस दुकानों की बराबर निरीक्षण करने को कहा गया है. गड़बड़ी करने वाले डीलरों को तत्काल निलंबित कर थाने मे प्राथमिकी दर्ज़ कराने को कहा गया है.
जिला सहकारिता पदाधिकारी एवं जिला कृषि पदाधिकारी को गेँहू की अधिप्राप्ति कार्य तुरंत शुरू कराने का निर्देश दिया गया है ताकि किसानों को उचित मूल्य की प्राप्ति हो सके.
मालूम हो कि
सरकार द्वारा गेँहू का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1925 रूपये क्विंटल निर्धारित किया गया है लेकिन जानकारी के आभाव में किसान लोकल व्यवसायियों को औने पौने दाम मे ही गेँहू बेच दें रहे है.
जिलाधिकारी ने किसानों के हित को देखते हुए व्यापार मंडल एवं पैक्स के माध्यम से गेँहू की अधिप्राप्ति शीघ्र प्रारम्भ करने का निर्देश दिया है.
जिला मत्स्य पदाधिकारी एवं जिला पशुपालन पदाधिकारी को मांस मछली अंडे आदि के दुकानों को पूर्ब की तरह खुलवाने को कहा है ताकि बंद हुए रोज़गार धंधे में पुनः गति आये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!