मेराथन दौड़ को लेकर तोड़-फोड़ आगजनी, जिलाधिकारी ने आयोजक पर दिया प्राथमिकी का आदेश

मेराथन दौड़ को लेकर तोड़-फोड़ आगजनी, जिलाधिकारी ने आयोजक पर दिया प्राथमिकी का आदेश..!!

जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस एम ने बिना तैयारी के मेराथन दौड़ प्रतियोगिता के आयोजनकर्ता एथेलेटिक फेडरेशन, दरभंगा के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है। साथ ही उपविकास आयुक्त की अध्यक्षता में त्रि-सदस्यीय कमिटी जांच के लिए गठित किया है। जिला प्रशासन ने संकेत दिया है कि जांच में दोषी पाये जाने पर खेल पदाधिकारी के विरूद्ध भी प्राथमिकी के अलावे

अनुशासनिक कारवाई की जायेगी। सनद रहे कि कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के मैदान में मेराथन दौड़ का आयोजन किया गया था। इसके लिए आॅन लाईन आवेदन एवं फीस वसूली गयी थी। आयोजन में भाग लेने के लिए बड़ी संख्या में प्रतिभागी रात से ही जुटने लगे थे। वादा के मुताबिक प्रतिभागियों के लिए न तो रहने की व्यवस्था थी और न ही टी शर्ट की व्यवस्था की गयी थी। जिसके बाद प्रतिभागी उग्र हो गये और तोड़-फोड़ आगजनी शुरू कर दिया। कई वाहन क्षतिग्रस्त कर दिये गये। शुरूआत दौड़ में थाना पुलिस को प्रतिभागियों ने खदेड़ दिया। बाद में सिटी एसपी योगेन्द्र कुमार के नेतृत्व में भारी संख्या में पुलिस बल पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित किया। इसी बीच जिला प्रशासन की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस मामले में जिला खेल

पदाधिकारी के स्तर पर लापरवाही का मामला सामने आया है और बिना जांच के ही एक निजी संस्था को इतनी बड़ी खेल प्रतियोगिता का आयोजन का अनुमति दिया गया। जिसमें राशि की भी वसूली किये जाने की भी बात सामने आयी है। जिसके बाद जिलाधिकारी ने विजय पंडित के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है। जिलाधिकारी ने चिंता जतायी है कि विश्वविद्यालय ने प्रतियोगिता आयोजन के लिए सीधे अनापत्ति प्रमाण-पत्र कैसे निर्गत कर दिया गया। जिलाधिकारी निर्देश दिया है कि भविष्य में अनुमंडलाधिकारी के अनुमति के बिना किसी भी संस्थान द्वारा अनापत्ति प्रमाण-पत्र निर्गत नहीं किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!