पाठशाला कोचिंग संस्थान के मेधावियों ने लहराया परचम

पाठशाला कोचिंग संस्थान के मेधावियों ने लहराया परचम,
संस्थान के मानसी प्रिया 96.40 फीसद अंक, खुशी सुमन झा 95.80%, प्रेरणा नारायण 95.20% एवं मयंक मधुर झा ने 94 फीसद अंक के साथ अव्वल।

सीबीएससी बोर्ड द्वारा घोषित किए गए 10 वीं परिणाम में आईआईटी मेडिकल एवं बोर्ड परीक्षा की तैयारी कराने वाली कोचिंग संस्थान कटहलबाड़ी दरभंगा स्थित पाठशाला के मेधावियों ने अपनी मेधा का परचम लहराया। संस्थान के निदेशक आईआईटीयन जितेश भगत ने बच्चों को मिठाई खिलाकर मेधावियों के साथ खुशी बांटी। साथ ही विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना किया। इस मौके पर संस्थान के प्री-फाउंडेशन बैच के प्रभारी सह गणित के शिक्षक ई. मनीष कुमार, फिजिक्स के शिक्षक डॉ सतीश कुमार, बायोलॉजी की शिक्षिका ज्योति रानी, सामाजिक विज्ञान के शिक्षक नीरज झा, अंग्रेजी के शिक्षक नवनीत रिकी एवं अन्य शिक्षक गण¨ सह पाठशाला प्रबंधन की टीम सफल छात्रों को बधाई दी।

प्री फाउंडेशन प्रभारी ई. मनीष कुमार ने बताया कि संस्थान के मानसी प्रिया 96.40 प्रतिशत , खुशी सुमन झा 95.80 प्रतिशत , प्रेरणा नारायण 95.20 प्रतिशत, सौम्यदीप विस्वास 94 प्रतिशत , मयंक मधुर झा 94 प्रतिशत, चेतन सिंह 93.60 प्रतिशत, नितिन मिश्रा 92 प्रतिशत (नेशनल साइंस ओलिंपियाड में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ठ प्रदर्शन कर गोल्ड मेडल प्राप्त किया) , स्वर्णिमा शालिनी 90.8 प्रतिशत, अपर्णा वत्स 90 प्रतिशत एवं नितिन आंनद , अभिजीत झा, प्रिंस वैभव सहित दर्जनों छात्र-छात्राएं ने सफलता प्राप्त की। हमारी संस्थान के छात्र विज्ञान एवं गणित विषय में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए गणित में प्रेरणा नारायण 99 अंक, खुशी सुमन झा 99 अंक, नितिन मिश्रा 98 अंक, प्रिंस वैभव 96 अंक, मयंक मधुर झा 96 अंक प्राप्त किया। अंग्रेजी विषय मे उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए मानसी प्रिया ने 98 अंक हासिल किया।

मानसी प्रिया ने बताया कि पाठशाला कोचिंग के अनुभवी शिक्षक की टीम, गुणवत्तापूर्ण स्टडी किट और रेगुलर टेस्ट से सफलता हासिल की। वही प्रेरणा नारायण ने कहा कड़ी मेहनत निश्चित तौर पर रंग लाती है। पाठशाला के द्वारा परीक्षा से पहले आयोजित सभी विषय का बोर्ड पैटर्न टेस्ट से काफी मदद हुआ। बोर्ड पैटर्न टेस्ट से अपनी कमजोर पक्ष का पता चलता रहा और समय रहते शिक्षकों के साथ वार्तालाप कर खुद में सुधार किया। नितिन मिश्रा ने बताया कि सफलता के लिए लगन और आत्मविश्वास बेहद जरूरी है। खुसी सुमन झा ने बताय रोजाना तीन से चार घंटे सेल्फ स्टडी किया करता था। उनका कहना है कि पढ़ाई का उतना ही लाभ है, जितना समझ आए। 

निदेशक श्री भगत ने कहाँ बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट आने के बाद विद्यार्थी इस बात को लेकर परेशान हैं कि 10वीं के बाद वे कौन सा सब्जेक्ट चुनें? किस दिशा में जाएं? इसलिए सबसे जरूरी बात है कि आप खुद को जानें कि आपकी रुचि किस दिशा में है, क्योंकि बिना इसके आगे जाने की संभावनाएं कम होती हैं. साथ ही अगर हम अपनी रुचि के विपरीत को फील्ड चुनते हैं तो भी हमें हमारा काम बोझ लगता है जो कि हमेशा तनाव का कारण बनता है। हमारी संस्थान आईआईटी जेईई , नीट एवं एडवांस सह बोर्ड परीक्षा की तैयारी के लिए ऑनलाइन कोर्स शुरू किया है। 10वीं पास सभी बच्चें घर बैठे टॉप फैकल्टी के साथ अपनी तैयारी को गति दे सकते है। विशेष जानकारी के लिए आप संस्थान के वेबसाइट www.paathshaalainstitute.com एवं PAATHSHAALA : AN IITIAN INITIATIVE प्ले स्टोर एवं आईओएस से डाउनलोड कर सकते है । इसके अलावे फेसबुक पेज एवं संस्थान के मोबाइल नंबर पर कॉल कर के जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!