आज से मदरसा में लूँगी बैन

मिथलांचल सहित पूरे बिहार के मदरसा में आज से शिक्षकों और छात्रों के लूँगी पहनने पर बैन लग गया है। अब इनके लिए ड्रेस कोड लागू किया गया है।
शैक्षणिक सत्र (वर्ष 2019-20) में अब बिहार के कुल 2 हजार मदरसा में ड्रेस कोड लागू हो गया है। वस्तानिया से लेकर फाजिल तक के सभी मदरसों में ड्रेस काेड को सख्ती से लागू करने के निर्देश सरकार ने दिए है। आज से मदरसा के छात्र सफेद कुर्ता पायजामा और सफेद टोपी पहनकर आएंगे, वही छात्राओं को सफेद सलवार, दुपट्टा और हरी समीज पहनकर मदरसा आना होगा। यही ड्रेस कोड मदरसा के शिक्षकों पर भी लागू होगा। बिहार सरकार ने मदरसा के आधुनिकीकरण की दिशा में यह कदम उठाया है। चुकी मदरसा को सरकार से अनुदान प्राप्त होता है, इसलिए सभी मदरसों में 1 मई से यह लागू कर दिया गया है। मदरसा को आधुनिकीकरण की दिशा में सरकार द्वारा कई कदम अब उठाये जा रहे है। जिसमे कम्प्यूटर शिक्षा के साथ साथ व्यवसायिक कोर्स भी चालू किये जा रहे है।
दरभंगा के कुल 158 मदरसा में लागू करने के लिए मदरसा बोर्ड के चेयरमैन अब्दुल कय्यूम अंसारी खुद सभी मदरसों का दौरा कर रहे है। उन्होंने बताया कि मदरसा के बच्चें और शिक्षक अलग अलग रंगों के कपड़े पहनकर आते है। जिससे असमानता की भावना आती है। ड्रेस कोड लागू करने के पीछे इस असमानता को दूर करना है। गरीब अमीर सभी के बच्चें अब एक समान एकरूपता लाना है। शिक्षकों को अभी ड्रेस कोड में आना आवश्यक है।

ड्रेस कोड को पूरे बिहार सख्ती से लागू कर दिया गया है। सभी मदरसा को इस बाबत निर्देश दे दिए गए है। जो मदरसा नियम का उल्लंघन करेंगे उनपर कार्यवाई की जाएगी।
अब्दुल कय्यूम अंसारी
चेयरमैन, मदरसा बोर्ड,बिहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!