16 जुलाई से 31 जुलाई तक पुनः रहेगा लॉकडाउन

*16 जुलाई से 31 जुलाई तक पुनः रहेगा लॉकडाउन*

*17 जुलाई से 08 अगस्त तक सिंचाई के साधनों का होगा सर्वे*

*कोरोना पॉजिटिव स्वेच्छा से रह सकते हैं होम क्वारंटाइन*

दरभंगा, 14 जुलाई 2020, मुख्य सचिव, बिहार श्री दीपक कुमार ने ऑनलाईन बैठक कर बिहार के सभी प्रमण्डलीय आयुक्त से कोरोना टेस्टिंग, कोरोना मरीज के डिस्चार्ज की समीक्षा की। इस अवसर पर सचिव, कृषि विभाग, बिहार सरकार द्वारा बताया गया कि बिहार के सभी जमाबंदी प्लॉट का सर्वेक्षण 17 जुलाई से 08 अगस्त तक कराया जाएगा। सर्वेक्षण में यह पता लगाया जाएगा कि संबंधित प्लॉट सिंचित है या असिचिंत। यदि सिचिंत है तो सिंचाई के कौन से साधन उपलब्ध हैं। नहर, आहर, पइन, चेकडैम, ट्युबेल अथवा कुआँ उपलब्ध है, यदि प्लॉट असिचिंत है तो क्या वहाँ सिचाई के साधन की व्यवस्था की जा सकती है। क्या खरीफ, रबी और गरमा तीनों फसलों के लिए सिंचाई के साधन उपलब्ध है या किसी एक फसल के लिए, संबंधित प्लॉट के लिए कृषि फिडर है या नहीं। सर्वेक्षण का कार्य कृषि सलाहकार, कृषि समन्वयक करेंगे। यदि किसी पंचायत में कृषि सलाहकार उपलब्ध नहीं होंगे तो अत्मा के ए.टी.एम. सर्वेक्षण करेंगे।

जेल में कोरोना की सुरक्षा को लेकर बताया गया कि बिहार के किसी भी कारा में न बाहर से कोई व्यक्ति अंदर जाएगा, न अन्दर का कोई व्यक्ति बाहर आएगा। मुलाकात के लिए ऑनलाईन व्यवस्था जारी रहेगी। जेल के अन्दर भी आइसोलेंशन वार्ड की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए।
आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव ने बताया लोगों के द्वारा फेस मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन नहीं करने तथा कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए 16 जुलाई से 31 जुलाई 2020 तक 16 दिनों के लिए बिहार में पुनः लॉकडाउन किया जा रहा है। लॉकडाउन में निजी गाड़ियों के आवागमन पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया है। साथ ही सभी सरकारी गाड़ियाँ या वैसी गाड़ियाँ जिसपर सरकारी कर्मी चलेंगे अनुमान्य होगा। विनिर्माण एवं कृषि से संबंधित सभी दुकानें खुली रहेंगी। रेस्ट्रॉ और ढ़ावा खुले रहेंगे, लेकिन केवल होम डिलेवरी और सामान ले जाने से संबंधित सेवा चालू रहेगा। अस्पताल, नर्सिंग होम, दवा की दुकानें खुली रहेंगी। राशन की दुकानें खुली रहेंगी। प्रिंट मीडिया एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को अनुमति प्रदान की गई है। सभी धार्मिक स्थल आम आदमी के लिए बन्द रहेंगे। सभी प्रकार के समारोह व आयोजन पर रोक लगा दी गई है।
प्रधान सचिव, स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया कि यदि किसी व्यक्ति को कोई परेशानी नहीं है और वह कोरोना पॉजिटिव निकलता है तथा वह होम क्वारंटाइन में रहना चाहता है और उसके पास पर्याप्त जगह है तो वह रह सकता है। उन्हें 104 नम्बर पर यह जानकारी देनी होगी। होम क्वारंटाइन में रहने के दौरान प्रतिदिन उनके घर पर एक स्वास्थ्य कर्मी उनकी जाँच के लिए भेजा जाएगा। यदि 10 दिनों तक उस व्यक्ति में लक्षण नहीं पाया जाता है, तो उनको निस्तारित माना जाएगा। होम क्वारंटाइन के लिए आवेदन करने हेतु एक नया पोर्टल भी बनाया जा रहा है।
समीक्षा बैठक में आयुक्त, दरभंगा प्रमण्डल, दरभंगा श्री मयंक बरबड़े ने दरभंगा, मधुबनी एवं समस्तीपुर जिले से संबंधित कोरोना टेस्टिंग, डिस्चार्ज, एनटीजन टेस्ट, ट्रूनेट टेस्ट से संबंधित आंकड़ों से अवगत कराया।
ऑनलाईन समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम., वरीय पुलिस अधीक्षक श्री बाबू राम, सिविल सर्जन, डी.पी.एम. तथा कृषि विभाग के पदाधिकारी व अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!