125 विल्लेज क्वारंटाइन सेंटर में 729 व्यक्ति आवासित। सभी आवासितों को भोजन चिकित्सा उपलब्ध कराई जा रही।

125 विल्लेज क्वारंटाइन सेंटर में 729 व्यक्ति आवासित।

सभी आवासितों को भोजन चिकित्सा उपलब्ध कराई जा रही।

लॉक डाउन अवधि में राज्य के बाहर से आये हुए सभी अप्रवासी मजदूरों/अन्य लोंगो को उनके गाँव के स्कूल/पंचायत भवन में क्वारंटाइन किया गया है। इसमें से जिन लोंगो का 14 दिन पूरा हो गया था उन्हें उनके घर भेज दिया गया हैं। आज की तिथि में जिला में अभी भी 125 क्वारंटाइन सेन्टर क्रियाशील है जिसमें कुल 729 अप्रवासी मजदूर/अन्य व्यक्ति ठहरे हुए हैं। आज की तिथि में कुशेश्वरस्थान प्रखण्ड में सबसे अधिक 17 केन्द्र कार्यरत है जिसमें 45 लोग आवासित हैं।
इसके अलावा अलीनगर प्रखण्ड में 08 क्वारंटाइन सेन्टर में 26 लोग, बहादुरपुर प्रखण्ड में 06 क्वारंटाइन सेन्टर में 21 लोग, बहेड़ी प्रखण्ड में 10 क्वारंटाइन सेन्टर में 47 लोग, बिरौल प्रखण्ड में 11 क्वारंटाइन सेन्टर में 72 लोग, सदर प्रखंड में 03 क्वारंटाइन सेन्टर में 29 लोग, नगर निगम क्षेत्र में 01 क्वारंटाइन सेन्टर में 111 लोग, गौड़ाबौराम प्रखण्ड में 02 क्वारंटाइन सेन्टर में 28 लोग, घनश्यामपुर प्रखण्ड में 07 क्वारंटाइन सेन्टर में 26 लोग, हनुमाननगर प्रखण्ड में 06 क्वारंटाइन सेन्टर में 18 लोग, हायाघाट प्रखण्ड में 05 क्वारंटाइन सेन्टर में 23 लोग, जाले प्रखण्ड में 10 क्वारंटाइन सेन्टर में 36 लोग, केवटी प्रखड में 01 क्वारंटाइन सेन्टर में 08 लोग, किरतपुर प्रखण्ड में 02 क्वारंटाइन सेन्टर में 25 लोग, कुशेश्वरस्थान पूर्वी में 14 क्वारंटाइन सेन्टर में 146 लोग, मनीगाछी प्रखण्ड में 10 क्वारंटाइन सेन्टर में 28 लोग, सिंहवाड़ा में 06 क्वारंटाइन सेटन में 23 लोग एवं तारडीह प्रखण्ड में 06 क्वारंटाइन (संगरोध) सेन्टर में 17 लोग आवासित है। इन सभी संगरोध केंद्रों में कुल 729 व्यक्तियों के आवासित होने की सूचना प्रतिवेदित है। जिसमें कुल पुरूषों की संख्या 688, महिलाओं की संख्या 17, लड़का की संख्या 16 एवं लड़की की संख्या 08 हैं।

क्वारंटाइन सेन्टर में ठहराये गये सभी लोगों को सरकारी स्तर पर आवासन एवं भोजनध्पानीध्चिकित्सा आदि की सारी सुविधाएँ प्रदान की जा रही है। इन लोगों के भोजनध्आवासन का सारा खर्च सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है।
जिला मध्याह्न भोजन कार्यक्रम पदाधिकारी द्वारा प्रतिवेदित किया गया है कि आज कुल 1000 लोगों को क्वारंटाइन केन्द्रों में खाना खिलाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!