03 लाख 04 हजार 879 लाभुकों को राशि भेजने की प्रक्रिया पूर्ण

*पूरी तरह से संतुष्ट होने के उपरांत ही डाटा भेजें-डीएम*

*03 लाख 04 हजार 879 लाभुकों को राशि भेजने की प्रक्रिया पूर्ण*

*दरभंगा, हनुमाननगर, सिंहवाड़ा एवं कुशेश्वरस्थान एवं कुशेश्वरस्थान पूर्वी अंचल के बाढ़ पीड़ित परिवारों को भेजी गई सहाय्य राशि*
*बाढ को लेकर जिलाधिकारी ने की ऑनलाइन बैठक*

दरभंगा, 06 अगस्त, 2020 :- आज दरभंगा सदर अंचल के 02 पंचायत के 03 हजार 269 पीड़ित परिवार, हनुमाननगर अंचल के 07 पंचायत के 07 हजार 705 पीड़ित परिवारों, सिंहवाड़ा अंचल के 01 पंचातय के 02 हजार 879 पीड़ित परिवारों एवं कुशेश्वरस्थान अंचल के 01 पंचायतों के 03 हजार 632 पीड़ित परिवार एवं कुशेश्वरस्थान पूर्वी अंचल के 02 पंचायत के 709 पीड़ित परिवारों को पी.एफ.एम.एस. के द्वारा राशि भेजी गई ।
वहीं बाढ़ से प्रभावित पीड़ित परिवारों को प्रति परिवार 6000/- रूपए की दर से कुल 03 लाख 04 हजार 879 बाढ़ से प्रभावित पीड़ित परिवारों को कुल 182 करोड़ 92 लाख 74 हजार रूपये पी.एफ.एम.एस.(पब्लिक फाइनेंस मैनेजमेट सिस्टम) के माध्यम से उनके खाते में भेजने हेतु आपदा विभाग को पोर्टल के माध्यम से अग्रसारित कर दिया गया है।
गौरतलब है कि आपदा प्रबंधन विभाग के संपूर्त्ति पोर्टल पर बाढ़ प्रवण प्रखण्डों के लाभार्थियों की सूची पूर्व में ही अपलोड कर दी गई है, जिसके कारण दरभंगा जिला के बाढ़ पीड़ितों को तुरंत नगद राशि का भुगतान संभव हो पा रहा है।
उन्होंने बताया कि पी.एफ.एम.एस. प्रणाली से राशि लाभार्थी के खाते में जमा होती है। किसी को भी बैंक का चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ती है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि लाभुक किसी भी प्रकार के बिचौलियों के चंगुल में जाने से बच जाते हैं।

जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. की अध्यक्षता में बाढ़ राहत कार्य, बाढ़ निरोधक कार्य एवं पी.एम.एम.एस. डाटा सर्वे की समीक्षा बैठक की गई।
बैठक में जिलाधिकारी ने क्रमशः बहादुरपुर, दरभंगा सदर, हनुमाननगर, हायाघाट, केवटी, सिंहवाड़ा, घनश्यामपुर, गौड़ाबौराम, किरतपुर, कुशेश्वरस्थान, कुशेश्वरस्थान पूर्वी, बिरौल, बेनीपुर के अंचलाधिकारी से पी.एफ.एम.एस. डाटा के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने एक सप्ताह के अन्दर बाढ़ प्रभावित परिवारों को राशि का भुगतान कर देने हेतु माननीय मुख्यमंत्री द्वारा दिये गए निर्देश का स्मरण कराते हुए कहा कि 02 से 03 दिनों के अन्दर डाटा मुख्यालय को उपलब्ध करा दिया जाए। जहाँ भी पुनः सर्वेक्षण कराने की जरूरत हो, वहाँ तुरंत सर्वेक्षण करा दिया जाए। खास करके नये प्रभावित पंचायतों का सर्वे अच्छी तरह से कराने के निर्देश दिए गए।
उन्होंने सभी संबंधित अंचलाधिकारियों से उनके क्षेत्र में चलाये जा रहे सामुदायिक किचन एवं वितरित किए जा रहे पॉलिथिन शीट्स व पशु चारा के संबंध में भी बारी-बारी से जानकारी प्राप्त की तथा कहा कि यदि आवश्यकता हो तो अभी बता दें। घनश्यामपुर, सिंहवाड़ा, बिरौल एवं हनुमाननगर द्वारा पॉलिथिन शीट्स की माँग की गई। जिलाधिकारी ने आपदा प्रबंधन पदाधिकारी श्री सत्य्म सहाय को कल ही पॉलिथिन शीट्स उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि डुबने से यदि किसी की मृत्यु होती है, किसी तरह की उसमें कोई शंका नहीं है और अंचलाधिकारी पूरी तरह से संतुष्ट है तो अनुग्रह अनुदान की राशि 04 लाख रूपये का भुगतान पंचनामा कराने के उपरांत 24 घंटे के अंदर कर दिया जाए। यदि अंचलाधिकारी संतुष्ट न हो तो पोस्टमार्टम प्रतिवेदन प्राप्त होने के उपरांत भुगतान करें। उन्होंने कहा कि एस.ओ.पी. के अनुसार 24 घंटे के अन्दर अनुग्रह अनुदान राशि का भुगतान हो जाना चाहिए। सही मामले में विलम्ब पाये जाने पर संबंधित के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी।
बैठक के दौरान अंचलाधिकारी, बिरौल ने बताया कि एस.एच-17 से पुराना थाना चौक, बिरौल भाया पी.एच.सी., बिरौल को जोड़ने वाली सड़क की स्थिति जर्जर हो गया है। जिलाधिकारी ने पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता को दूरभाष पर अतिशीघ्र मरम्मत कराने के निर्देश दिए। इसके साथ ही दरभंगा-समस्तीपुर रोड में फतमा पेट्रोल पंप के पास वाले पुल का पहुँच पथ तथा डीलाही वाला रोड की मरम्मति अतिशीघ्र कराने के निर्देश दिए।
उन्होंने बेनीपुर के बी.डी.ओ. एवं सी.ओ. को बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का नियमित रूप से भ्रमण करने के निर्देश दिए।
इस बैठक में नगर आयुक्त श्री घनश्याम मीणा, उप विकास आयुक्त डॉ. कारी प्रसाद महतो, अपर समाहर्त्ता श्री विभूति रंजन चौधरी सहित सभी संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!