सेवाशर्त में ठगे जाने पर शिक्षको ने जताया सपरिवार विरोध

दरभंगा. नियोजित शिक्षकों के लिए जारी सेवाशर्त पर शिक्षको का आक्रोश दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। शिक्षक सरकार पर यह आरोप मढ़ रहे है कि उनकी उपेक्षा करके बिहार के प्रतिभा का अपमान किया जा रहा है। टीईटी एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजीत शिक्षक संघ गोपगुट द्वारा राज्यव्यापी विरोध सप्ताह के अंतिम दिन जिला के हजारों शिक्षको ने व्हाट्सएप्प फेसबुक ट्विटर इत्यादि के माध्यम से बॉयकॉट एनडीए बिहार असेंबली इलेक्शन दो हजार बीस हैशटैग के साथ ऑनलाइन सपरिवार विरोध दर्ज किया।

इस मौके पर टीईटी एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट के जिला अध्यक्ष प्रमोद मण्डल, उपाध्यक्ष राशिद अनवर, डा रणधीर राय, अरुण कुमार, प्रवक्ता धनन्जय झा ने बताया कि सरकार शिक्षक और समाज को लाख बरगलाने की कोशिश कर ले लेकिन बिहार के शिक्षक और आम अवाम समझ चुकी है कि सरकार चुनावी लॉलीपॉप फेंककर अपना उल्लू सीधा करना चाहती है। शिक्षक अब झांसे में आने वाले नही है।वही कोषाध्यक्ष शिबली अंसारी,जिला सचिव राजीव पासवान, ताजुद्दीन,कार्यकारिणी सदस्य प्रवीण नायक ने कहा कि पिछले पांच साल में सरकार को कभी भी शिक्षको की याद नही आई लेकिन अब चुकी चुनाव नजदीक है तो वह शिक्षको को अपने मकड़जाल में फसाना चाहती है।

उसकी मंशा कभी साफ नही रही है और न ही वह कभी शिक्षको के प्रति संवेदनशील रही है।आगामी विधानसभा चुनाव में शिक्षक इस सरकार से अपने अपमान का बदला सरकार को बदल कर लेंगे। वही संघ के सदस्य सोनू मिश्रा, सोनू साह, रंजीत यादव, रंजन पासवान ने कहा कि यह कितनी बड़ी विडंबना है कि राष्ट्रीय स्तर पर तय मानकों को पूरा करने वाले लाखों टीईटी एसटीईटी उत्तीर्ण शिक्षक आज भी अपने अधिकारों के लिए संघर्षरत है। उक्त शिक्षको को अधिकार से वंचित रखकर बिहार सरकार प्रतिभा का खुलेआम मजाक उड़ा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!