बाहर से लौटे श्रमिकों व उद्यमियों के लिए रोजगार सृजन को लेकर हुई बैठक

*बाहर से लौटे श्रमिकों व उद्यमियों के लिए रोजगार सृजन को लेकर हुई बैठक*

दरभंगा, 13 जुलाई 2020, समाहरणालय स्थित अंबेडकर सभागार में जिला पदाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस. एम. की अध्यक्षता में “जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना” के अंतर्गत कोरोना काल में बाहर से लौटे उद्यमियों एवं श्रमिकों के साथ सहयोग कर एवं उन्हें प्रोत्साहन देकर उद्योगीकरण को बढ़ावा देने एवं स्थानीय स्तर पर रोजगार सृजन करने को लेकर बैठक की गई ।

इसी संबंध में दरभंगा जिला के स्थानीय संस्कृति के अनुरूप उद्योगों को बढ़ावा देना है जिसमें मखाना प्रसंस्करण उद्योग, मिथिला पेंटिंग का प्रचार एवं पेवर ब्लॉक का निर्माण प्रमुख हैं। जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना के तहत बिहार सरकार द्वारा 5 इकाइयों की स्थापना हेतु 50 लाख की अनुदान राशि उपलब्ध कराई गई।
<img src="http://www.darbhangasamachar.com/wp-content/uploads/2020/07/IMG-20200711-WA0069-300×191.jpg" alt="" width="300" height="191" class="alignnone size-medium wp-image-2985"
समीक्षा बैठक में निदेशक डीआरडीए अभिषेक रंजन द्वारा सभी वेंडरों से कार्य का अद्यतन सूचना एवं कार्य में आने वाली बाधाओं के बारे में पूछा गया तथा जरूरी निर्देश दिए गए। उल्लेखनीय है कि इकाइयों की स्थापना से संबंधित प्रक्रिया अभी एल.एल.पी की चरण में है जिसे 22 जुलाई तक पूरा करने का निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया। सभी इकाइयों को उद्योग स्थापना संबंधित सभी प्रक्रिया पूरी करके रखने का निर्देश देते हुए कहा कि आबंटित कोष की राशि तुरंत हस्तांतरित करते हुए इकाइयों को जल्द से जल्द शुरू करवाया जा सके।
मखाना उद्योग की स्थापना के संबंध में जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि मखाना को सीधे किसान से इकाई तक एवं इकाई में संस्करण के बाद बाजार में पहुंचाने के लिए प्रशासन एवं उद्यमियों के संयुक्त प्रयास से बिचौलियों को हटाया जाना आवश्यक है। इसी प्रकार मिथिला पेंटिंग अंतर्गत कपड़ा, सिलाई, कलाकार, कार्य पूंजी आदि का आकलन कर प्रतिवेदन सौपने का भी निर्देश दिया गया।
जी.एम.,डी.आई.सी. को 05 इकाइयों से अधिक मांग आने पर अतिरिक्त इकाइयों एवं श्रमिकों को प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम से जोड़ कर इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाने का निर्देश दिया गया। जी.एम.,डी.आई.सी. द्वारा बताया गया कि इस कार्यक्रम के तहत 67 लोगों का डाटा बेस तैयार किया गया है तथा 17 लोगों को बैंक के माध्यम से ऋण दिलाने की प्रक्रिया चल रही है।
वरीय उप समाहर्त्ता, बैंकिंग एवं मखाना प्रसंस्करण के नोडल पदाधिकारियों द्वारा भी संबंधित अद्यतन सूचना प्राप्त करते हुए जरूरी दिशा निर्देश दिए गए।
https://youtu.be/MCfqyQ63Tdw

जिलाधिकारी द्वारा 22 जुलाई तक तीन यूनिट को शुरू करने एवं इसके बाद दो अन्य यूनिट को शुरू करने का निर्देश संबंधित पदाधिकारी को दिया गया।
बैठक में सहायक समाहर्त्ता प्रियंका रानी, निदेशक डीआरडीए अभिषेक रंजन, वरीय उप समाहर्त्ता बैंकिंग पुष्पिता झा, मखाना उद्योग नोडल आलोक रंजन, डीआरसीसी नोडल ललित राही, नोडल जनसंपर्क राहुल कुमार आदि उपस्थित थे।
https://youtu.be/ajGihdbY2bc

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!