दिल्ली, मुंबई एवं गुजरात से आने वाले प्रवासी को प्रखण्ड क्वारंटाइन में रखा जायेगा ।

दिल्ली, मुंबई एवं गुजरात से आने वाले प्रवासी को प्रखण्ड क्वारंटाइन में रखा जायेगा ।

उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, तामिलनाडु से आ रहे प्रवासी पंचायत क्वारंटाइन में रहेंगे।

अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी विल्लेज क्वारंटाइन में भेजे जायेंगे।

महिला, बच्चे, बुर्जुग एवं बीमार व्यक्ति होम क्वारंटाइन में भेजे जायेंगे।

सभी क्वारंटाइन केन्द्रों में प्रवासियों को बुनियादी सुविधाएँ मुहैय्या की जायेगी।

03 मई के बाद आने वाले प्रवासियों को निकलने के समय 500 रूपया एवं टिकट का पैसा मिलेगा।

सभी प्रवासियों का कोविड पोर्टल पर इन्ट्री कराना अनिवार्य होगा।

जिला पदाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम. एवं वरीय पुलिस अधीक्षक बाबू राम ने कहा है कोविड महामारी के रोकथाम हेतु देश भर में लागू लॉक डाउन से प्रभावित प्रवासी मजदूरों को गृह जिला में आगमन होते ही 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन किया जाना हैं । कहा कि कोविड महामारी से उत्पन्न वर्त्तमान हालात में क्वारंटाइन केन्द्रों का सफलता पूर्वक संचालन किया जाना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसमें थोड़ी भी लापरवाही स्वीकार नहीं की जा सकती है। उन्होंने ये बातें डी.एम. कार्यालय प्रकोष्ठ में आयोजित बैठक में कहीं है।
बैठक में जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक द्वारा जिला में संचालित किये जा रहे सभी क्वारंटाइन केन्द्रों के सुगम प्रबंधन, सुरक्षा व्यवस्था आदि की समीक्षा किया गया। जिलाधिकारी द्वारा सरकार के मुख्य सचिव के हवाले से बताया गया कि देश के कुछ हिस्सों में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। साथ ही ऐसे जगहों से भी बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिकों एवं अन्य लोगों का जिला में बराबर आगमन हो रहा है।
कहा कि हाई रिस्क जोन से आने वाले प्रवासी श्रमिकों को प्राथमिकता के तौर पर प्रखण्ड मुख्यालय में क्वारंटाइन किया जाये। प्रत्येक प्रवासी मजदूर एवं अन्य लोंगो की गहन स्क्रीनिंग की जाये। जिस किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण दिखें, उन्हें तुरंत अलग रखकर उनका सैंपल लेकर डी.एम.सी.एच. के लैब में जांच कराई जायेगी।
कहा कि उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु एवं हरियाणा से आये हुए प्रवासियों को पंचायत में क्वारंटाइन की जाये एवं इसके इतर अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासियों को उनके अपने गांव में ही क्वारंटाइन किया जाय।
कहा कि महिलाएं, बच्चे, बुर्जुग एवं बीमार व्यक्तियों को सीधे होम क्वारंटाइन में ही भेजी जानी हैं।
निदेश दिया गया कि सभी क्वारंटाइन केन्द्रों में बुनियादी सुविधाएं मुहैय्या की जाये। प्रवासियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सभी उपलब्ध संसाधनों का उपयोग की जाये। सरकारी भवन की कमी पड़ने पर निजी संस्थानों, विवाह भवन एवं अन्य सार्वजनिक भवनों का भी अधिग्रहण कर क्वारंटाइन केन्द्र में परिवर्त्तित की जाये।
विल्लेज क्वारंटीन केंद्रों पर निगरानी रखने हेतु संबंधित स्कूल के प्रधानाध्यापक, जीविका कर्मी, कोई ग्रामीण आदि की समिति गठित कर क्रियाशील कर दी जाये. वार्ड प्रबंधन समिति के माध्यम से भी निगरानी रखी जा सकती हैं.
कहा कि दिनांक 03 मई 2020 के बाद श्रमिक ट्रेनों अथवा अन्य माध्यमों से आये हुए प्रवासी मजदूर, जो 14 दिनों तक क्वारंटाइन केन्द्र में पूरे अनुशासन के साथ रहे हैं, उन्हें क्वारंटाइन केन्द्र छोड़ने के समय एक मुश्त 500 रूपया एवं ट्रेन का टिकट भाड़ा में जो राशि खर्च हुआ हैं, वह दिया जाना है। स्पष्ट किया गया कि जिन के पास कोई टिकट नही है अथवा अन्य माध्यमों से यात्रा किये है, उन्हें एक मुश्त 1000 रूपया पी.एफ.एम.एस. के माध्यम से दिया जायेगा। इस हेतु क्वारंटाइन केन्द्रों में रह रहे सभी प्रवासियों का डाटा बेस कोविड पोर्टल पर इन्ट्री किया जाना जरूरी है।
सभी अनुमण्डल पदाधिकारी एवं क्षेत्रीय पदाधिकारियों को क्वारंटीन केन्द्रों में आवासित प्रवासियों का कोविड पोर्टल पर डाटा इन्ट्री करने का निदेश दिया गया है।
वहीं वरीय पुलिस अधीक्षक, दरभंगा द्वारा सभी अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी एवं थाना प्रभारी को निदेश दिया गया है कि क्वारंटाइन केन्द्रों में सुरक्षा व्यवस्था क़ड़ी की जाये। कोई भी प्रवासी क्वारंटाइन केन्द्र से निकलकर इधर-उधऱ नहीं घूमे, यह सुनिश्चित की जाये।
कहा है कि अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी एवं थाना प्रभारी प्रतिदिन अधिक से अधिक क्वारंटाइन केन्द्रों का विजिट कर वहां की सुरक्षा व्यवस्था का मुआयना करते रहें। कहा कि क्वारंटाइन केन्द्रों में निगरानी हेतु प्रधानाध्यापक की अध्यक्षता में एक कमिटी गठित है। उनका सहयोग प्राप्त की जाये। सभी क्वारंटाइन केन्द्रों पर चौकीदार अनिवार्य रूप से तैनात रहनी चाहिए।
इसके साथ ही जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक, दरभंगा को बैंक प्रबधकों से समन्वय बनाकर क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!