दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम. द्वारा सी.एम. आर्ट्स कॉलेज ने नदी के किनारे दीवार निर्माण कार्य का स्पॉट निरीक्षण किया गया।

जिलाधिकारी ने फ्लड प्रोटेक्शन कार्य की किया समीक्षा.

औसतन 70 प्रतिशत् कार्य हुआ है पूर्ण ।

15 जून तक सभी कार्य पूरा करने का दिया गया है निदेश।

सभी तटबंधों पर सतत् निगरानी रखी जाये, ताकि पिछले साल जैसी स्थिति उत्पन्न नहीं हो।

जिलाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम. द्वारा सी.एम. आर्ट्स कॉलेज, दरभंगा में नदी के किनारे दीवार निर्माण कार्य का स्पॉट निरीक्षण किया गया। यह दीवार बाढ़ के पानी को दरभंगा शहर में प्रवेश करने से रोकने के लिए खड़ी की जा रही है।
उन्होंने कहा है कि विगत साल दरभंगा में 06 जगहों पर कटाव हुआ था। जल संसाधन विभाग द्वारा सभी कटाव स्थलों की मरम्मति कार्य किया जा रहा है। समीक्षा में पाया गया कि अबतक औसतन 70 प्रतिशत् कार्य पूर्ण हो गया है। वहीं ककोढ़ा, कैथवार, कुमरौल, मंसा कटाव स्थलों पर अभी 50-70 प्रतिशत् ही कार्य पूरा हुआ है। जिलाधिकारी ने इस बचे हुए कार्य को तेज़ी से पूर्ण कराने का निर्देश दिया है.

समीक्षा में जल संसाधन विभाग के अधीक्षण अभियंता द्वारा बताया गया है कि इस बार फ्लड प्रोटेक्शन में नई तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। कहा कि कटाव को रोकने के लिए आयरन शीट पाइल ड्राइविंग तकनीक का पहली बार इस्तेमाल किया गया है। इस तकनीक के इस्तेमाल किये जाने से बांध में अतिरिक्त मजबूती प्राप्त होगी और पानी का रिसाव भी रूकेगा।
जिलाधिकारी द्वारा इसी क्रम में शहरी सुरक्षा तटबंध का निरीक्षण किया गया और कार्यपालक अभियंता को रेन कट का आक़ लन कर तुरंत मरम्मति कराने का निदेश दिया गया. जल संसाधन विभाग एवं बाढ़ नियंत्रण प्रमण्डल के सभी कार्यपालक अभियंतागणों को 15 जून 2020 तक अनिवार्य रूप से फ्लड प्रोटेक्शन का कार्य पूरा करने, तटबंध के कमजोर बिन्दुओं को चिन्ह्ति कर वहां पर पर्याप्त संख्या में सैंड बैग संग्रहित रखने को कहा गया है।
उन्होंने कहा कि जून माह से ही सभी अभियंतागण पूरे एलर्ट मोड में रहेंगे। सभी कार्यपालक अभियंता सहायक अभियंता एवं कनीय अभियंताओं के साथ बांध पर ही कैप करेंगे। तटबंधों की निगरानी हेतु पर्याप्त संख्या में होमगार्ड की प्रतिनियुक्ति करा लेंने को भी कहा गया है।
हिदायत दिया गया है कि सभी तटबंधों पर सतत् निगरानी रखी जाये, ताकि पिछले साल जैसी स्थिति उत्पन्न नहीं हो। जल संसाधन विभाग के सभी अभियंतागणों को पूरी क्षमता के साथ कटाव स्थल की मरम्मति एवं तटबंधों की मजबूतीकरण का कार्य पूरा करने को कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!