डीएम दरभंगा :- बाहर से आने वाले लोगों को ट्रैक करने के लिए निगरानी समिति बनी।

बाहर से आने वाले लोगों को ट्रैक करने के लिए निगरानी समिति बनी।

जनप्रतिनिधियों ने कोरोना महामारी संग्राम में प्रशासन को पूरा सहयोग का भरोसा दिलाया।

कोरोना महामारी कि रोकथाम हेतु देशभर में लागू लॉक डाउन आदेश का उल्लंघन कर जिला के बाहर से चोरी-छिपे आने वाले लोगों को ट्रैक कर प्रशासन को सूचित करने के लिए निगरानी समितियाँ गठित की जा रही है। इस समिति के वोलंटियर द्वारा जिला के बाहर से आने वाले लोगों से पूछ-ताछ कर प्रशासन को सूचित किया जायेगा।
सूचना प्राप्त होते ही प्रशासन द्वारा ऐसे सभी व्यक़तियों को जिला स्तर/प्रखण्ड स्तर पर क्वारंटाइन किया जायेगा। जिलाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम. ने कहा है कि लॉक डाउन आदेश का उल्लंघन कर अनाधिकृत तौर पर जिला में प्रवेश करने वाले सभी लोगों को क्वारंटाइन सेन्टर में अनिवार्य रूप से रहना होगा। अब यह अवधि 14 दिनों से बढ़ाकर 21 दिन कर दी गयी है. क्वारेंटीन सेंटर में उन लोंगो की स्क्रीनिंग की जायेगी और चिकित्सकों के सलाह पर उनके सैंपल लेकर डी.एम.सी.एच. में जांच कराई जायेगी।

जिलाधिकारी ने त्रिस्तरीय पंचायत/निकाय के जनप्रतिनिधियों से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग पर वार्त्ता करके उन्हें अपने-अपने वार्डों/पंचायतों /गांवो में निगरानी समिति का गठन करने का आग्रह किया है। जिला के जनप्रतिनिधियों द्वारा जिलाधिकारी के प्रस्ताव पर सहर्ष सहमति व्यक्त किया गया और उनलोगों ने कोरोना महामारी को फैलने से रोकने के लिए प्रशासन को पूरा-पूरा सहयोग प्रदान करने का वायदा किया है ।
जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि दरभंगा नगर में 04 क्वारंटाइन सेन्टर तैयार कर दिया गया है। वहीं सभी प्रखण्ड मुख्यालयों में भी 3-4 क्वारंटाइन सेन्टर क्रियाशील कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कल बाहर से आये 82 लोगों को विभिन्न प्रखण्डों में संश्थापित क्वारंटाइन सेन्टर में रखा गया है। वहां आवासित लोंगो की निगरानी हेतु पुलिस फोर्स तैनात किये गये हैं और सीसीटीवी कैमरा भी लगाया जा रहा है.

उन्होंने कहा है कि सभी लोग लॉक डाउन का पालन करें। घर से निकलने पर मास्क का जरूर उपयोग करें। कहा कि बिना मास्क पहने घूमने फिरने से संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ेगा। कहा कि सरकार के निदेशानुसार ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बूस्ट अप करने हेतु बुनियादी क्षेत्रों में निर्माण कार्य प्रारंभ किया गया है, इससे बहुतायत बेरोजगार अप्रवासी मजदूरों को रोजगार के अवसर मिल रहे हैं । कहा कि कार्य स्थल पर साफ-सफाई एवं मास्क का पहनना अनिवार्य किया गया है।
वहीं वरीय पुलिस अधीक्षक बाबू राम द्वारा भी जनप्रतिनिधियों से प्रशासन को सक्रिय सहयोग करने का आग्रह किया गया। कहा कि कोरोना बीमारी किसी को संभलने का मौका नहीं देता है। थोड़ी सी असावधानी होगी और कईयों की जिंदगी खतरे में चली जायेगी। इसलिए सभी लोग लॉक डाउन का पालन करें। किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण पाये जाते हैं तो प्रशासन के हेल्पलाइन नम्बर – 06272-245055 एवं ट्रॉल फ्री नम्बर – 104 पर तुरंत सूचना दें।
कहा कि सभी थाना द्वारा भी व्हाट्स एप नम्बर जारी किया गया है। उस नम्बर पर भी सूचना दी जा सकती है। कहा कि कोरोना को फैलने से रोकने के लिए हर एक व्यक्ति को सतर्क रहना होगा। सरकार के निदेशों का पालन करनी होगी।
उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों को प्रशासन द्वारा गांव के स्कूल भवन में क्वारंटाइन किया गया है। उनलोगों को क्वारंटाइन सेन्टर में ही रहने के लिए कहा जाय। अगर वे यहां-वहां घूमते फिरेंगे तो क्वारेंटीन का उद्देश्य असफल हो जायेगा।
जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि नगर निगम क्षेत्र एवं सभी प्रखंड मुख्यालयों में संचालित क्वारंटाइन सेन्टर में लाइट, बिजली पंखे, सीसीटीवी कैमरे आदि संस्थापित करने का निर्देश दें दिया गया है.
वीडियो कॉन्फ्रेस में मौजूद जनप्रतिनिधियों से सुझाव आमंत्रित किये जाने पर कई पंचायतों के मुखिया ने अपने-अपने विचार रखे।

बहेड़ी के सुरेन्द्र यादव ने बेरोजगार अप्रवासी मजदूरों के आर्थिक स्थिति खराब होने, मनरेगा/नल-जल योजना का क्रियान्वयन हेतु सामग्री के ढुलाई में दिक्कते होने की बाते बताई गई। जाले के मुखिया जी ने प्रखण्ड सीमा पर सी.सी.टी.वी. लगवाने, निगरानी समिति के सदस्यों को परिचय पत्र निर्गत करने का सुझाव दिया। वहीं कुशेश्वरस्थान के मुखिया जी ने क्वारंटाइन सेन्टर में कार्यरत रसोईया के पारिश्रमिक का भुगतान शीघ्र कराने का अनुरोध किया। जिलाधिकारी द्वारा सभी जनप्रतिनिधियों के द्वारा उठाये गये मुद्दे पर त्वरित कार्रवाई का भरोसा दिया गया ।

इस बैठक में डी.एम., एस.एस.पी. सहित नगर पुलिस अधीक्षक योगेन्द्र कुमार, नगर आयुक्त घनश्याम मीणा, उप विकास आयुक्त डॉ. कारी प्रसाद महतो, अपर समाहर्त्ता विभूति रंजन चौधरी, सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी, सभी अनुमण्डल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, थाना प्रभारी, सभी मुखिया, नगर निगम के वार्ड पार्षद आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!