डीएम एसएसपी ने किया आपदा राहत केन्द्र का निरीक्षण.

डीएम एसएसपी ने किया आपदा राहत केन्द्र का निरीक्षण.

प्रवासियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए नगर में अतिरिक्त आपदा राहत केन्द्रों का संचालन होंगा ।


देश भर में लागू लॉक डाउन के बीच जिला में प्रवासी मजदूरों के लगातार आगमन को देखते हुए जिला में अतिरिक्त आपदा राहत केन्द्र संचालित करने की आवश्यकता बढ़ गई है। जिलाधिकारी दरभंगा डॉ त्यागराजन एस.एम. एवं वरीय पुलिस अधीक्षक बाबू राम द्वारा जिला में अतिरिक्त आपदा राहत केन्द्र संचालित करने हेतु नगर निगम क्षेत्र में अवस्थित विभिन्न भवनों का निरीक्षण किया गया ।

इसमें मिथिला विश्वविद्यालय अन्तर्गत बहुउदेशीय भवन, लॉ कॉलेज दरभंगा, श्यामा मंदिर परिसर में अवस्थित विवाह भवन आदि शामिल है। ये सभी भवन आपदा राहत केन्द्र संचालन हेतु उपयुक्त पाया गया है। जिला प्रशासन द्वारा आपदा प्रावधानों के तहत उक्त भवनों का अधिग्रहण करने की कार्रवाई की जा रही है। सदर अंचलाधिकारी को संबंधित भवनों के प्रभारी पदाधिकारी को विधिवत अधियाचना भेजने का निदेश दिया गया है।
इसके पूर्व जिला पदाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक द्वारा एम.एल.एस.एम. कॉलेज में पूर्व से संचालित आपदा राहत केन्द्र एवं हैरो इंगलिश स्कूल में संचालित क्वारंटाइन केन्द्र का निरीक्षण किया गया । एम.एल.एस.एम. कॉलेज राहत केन्द्र में जिला के बाहर से आये प्रवासियों को भोजन एवं अल्प विश्राम की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। यहां से उनलोगों को संबंधित प्रखंड/विल्लेज क्वारंटाइन केन्द्रों में भेजा जाता है। एम.एल.एस.एम. कॉलेज राहत केन्द्र एवं हैरो इंगिलश स्कूल क्वारंटीन केन्द्र में सभी व्यवस्थाएं दुरूस्त पाई गई है। जिलाधिकारी एवं एस.एस.पी. द्वारा एमएलएसएम केन्द्र एवं हैरो इगलिश स्कूल में ठहरे प्रवासियों से भोजन, आवासन, साफ सफाई, मेडिकल टीम के द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण / स्क्रीनिंग, पुलिस पदाधिकारियों के द्वारा नियमित विजिट किये जाने आदि के बारे में जानकारी लिया गया. सभी प्रवासी लोंगो ने खाने पीने, आवासन, सुरक्षा आदि की अच्छी व्य्वश्था उपलब्ध होने की बातें स्वीकार किया गया . साथ ही खाने के मेन्यू में परिवर्तन करने का जिलाधिकारी से अनुरोध किया गया । जिलाधिकारी ने डी.पी.ओ. मध्हयान् भोजन योजना सह नोडल पदाधिकारी श्री कन्हैया जी को क्वारंटाइन केन्द्रों में चाबल के साथ रोटी भी सर्व कराने का निदेश दिया गया । इस अवसर पर सदर एसडीओ, एसडीपीओ, सी.ओ सदर एवं अन्य अधिकारी उपश्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!