टिकट नहीं मिलने पर फातमी ने किया बगावत दरभंगा-मधुबनी से खड़े करेंगे उम्मीदवार

दरभंगा से चार बार सांसद रहे पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री मो. अली अशरफ फातमी ने राजद से टिकट नहीं मिलने के कारण पार्टी से बगावत करते हुए दरभंगा और मधुबनी संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार होने की घोषणा की है। पंडासराय स्थित पार्टी कार्यालय में बड़ी संख्या में उपस्थित समर्थकों के सामने श्री फातमी पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मेरा वकील दोनों जगहों के लिए नामांकन पत्र तैयार कर रहा है। मैं लड़ू या मेरे दोस्त लड़ें इसकी घोषणा आगामी 3 अप्रैल को होगी।

उन्होंने कहा कि पिछले 30 साल से मैं मुसलमानों का चेहरा हूं। पार्टी मुझे निकाल सकती है, पर कौम मुझे नहीं निकाल सकता। उन्होंने कहा कि मेरा टिकट काटने से पूरे बिहार में पार्टी पर असर पड़ेगा। खासकर दरभंगा-समस्तीपुर, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी सहित छ: संसदीय क्षेत्रों पर व्यापक असर पड़ेगा। श्री फातमी ने अपनी व्यथा सुनाते हुए कहा कि जिस जगह पर मैं बैठा हुआ हूं, वह पार्टी के लिए गिरवी है। मेरा बेटा जो विधायक है, वह 73 हजार रूपया दे रहा है।

जिसका प्रमाण स्टेट बैंक है। उन्होंने कहा कि पार्टी के लिए मैने रेल बुक किया। जिसका प्रमाण मेरे पास है। श्री फातमी ने कहा कि मैं पार्टी के लिए काम कर रहा हूं। मैने कभी एमएलए-एमएलसी बनने के लिए प्रयास नहीं किया। मुझे राज्यसभा में भी नहीं भेजा गया और सांसद के लिए भी टिकट नहीं मिलेगा, तो जान बूझकर तलवार के आगे गर्दन नहीं दे दूंगा। अपनी योजना का खुलासा करते हुए श्री फातमी ने कहा कि संवाददाता सम्मेलन के बाद पांच-पांच लोगों से बात करूंगा। दरभंगा में मैरे पाच हजार दोस्त हैं और मधुबनी के दोस्तों को 2 अप्रैल को बुला रहा हूं। उन्होंने कहा कि 2 तारीख से नामांकन शुरू होगा और 3 अप्रैल को मैं ऐलान कर दूंगा। उन्होंने यहां तक कहा कि फातमी राजद का एक अंग हैं और अगर इसे हटाया जाता हैं, तो पार्टी को बाद में इसका एहसास होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!