जेल में बन्द कैदियों ने भी पूरे विधि विधान के साथ मनाया छठ


दरभंगा मंडलकारा में 27 कैदियों ने छठ व्रत किया। व्रत को लेकर जेल प्रशासन की ओर से सभी तरह की व्यवस्था की गई थी। सजायाफ्ता कई कैदी व्रतियों के मदद में जुटे रहे। जानकारी के मुताबिक लहेरियासराय स्थित जेल में बंद 15 पुरुष व 12 महिला कैदी पानी में खड़े होकर भगवान भास्कर को अर्घ्य दिया। यूं तो अपनों के बीच अपने गांव-घर में पर्व मनाने का आनंद ही कुछ और है, पर कानूनी बंदिशों की वजह से यदि जेल की सजा ऐसे पर्व के मौके पर काटनी पड़े, तो सजायाफ्ता कैदी टूट सा जाता है। हालांकि जेल प्रशासन कैदियों को जेल में ही पर्व त्योहार मनाने की व्यवस्था कर उन्हें थोड़ी बहुत राहत देने की कोशिश अवश्य करता है। जेल अधीक्षक ललन कुमार सिन्हा ने बताया कि छठ व्रति पुरुषों को गेरुआ धोती, गंजी एवं महिलाओं और बच्चों को साड़ी और अन्य नया वस्त्र दिया गया है।

इसके अलावा कुल 542 कैदियों के लिए प्रसाद स्वरूप एक केला व एक ठेकुआ की व्यवस्था भी की गयी है। उन्होंने कहा कि पहली बार जेल परिसर में भगवान भास्कर की प्रतिमा स्थापित कर पूजा-अर्चना की गई है। छठ पर्व के मौके पर भी जेल की चहारदीवारी के भीतर छठ व्रतियों के लिए पानी में खड़े होने की विशेष व्यवस्था की गई। साथ ही पर्व के मद्देनजर सभी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति भी की ताकि छठ व्रतियों को पूजा-अर्चना में किसी चीज की कमी महसूस ना हो। जेल में छठ पूजा की व्यवस्था होने से अन्य कैदियों में भी उत्साह का माहौल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!