जिला में 84,408 युनिट आवास निर्माण का लक्ष्य को पूर्ण करने के लिये की जा रहीं कार्रवाई

विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन तेज किये जायेंगे।

जिला में 84,408 युनिट आवास निर्माण का लक्ष्य को पूर्ण करने के लिये की जा रहीं कार्रवाई.

ग्रामीण विकास विभाग ने जारी किया निदेश।

प्रवासी कामगारों को मनरेगा योजना में शत्-प्रतिशत् अच्छादन होगा।

वरीय प्रखण्ड प्रभारी को विकास योजनाओं का नियमित निरीक्षण करने का निदेश।

कोरोना महामारी के रोकथाम हेतु देशव्यापी लॉक डाउन के बीच अब जिला में सरकार के विभिन्न विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन भी तेज की जायेगी। सरकार के मुख्य सचिव एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से जल-जीवन-हरियाली अभियान, मनरेगा योजना, लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के कार्य प्रगति की समीक्षा की गई।
समीक्षा बैठक में सचिव महोदय द्वारा जिला के प्रत्येक पंचायत में मनरेगा योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक जनोपयोगी योजनाएं लेकर कार्य प्रारंभ करने का निदेश दिया गया। कहा है कि बड़ी संख्या में प्रवासी कामगार अभी गांवों में आये हुए है। उक्त सभी कामगारों को मनरेगा योजना में आच्छादित की जाये। उन्हें नया जॉब कार्ड जारी किये जाये। कहा कि मनरेगा योजना में जेसीबी मशीन, ट्रैक्टर आदि से कार्य न कराई जाये बल्कि अधिक से अधिक श्रम बल का सृजन हो, इस पर पूरी ध्यान दी जाये। यह भी ताकिद किया गया कि मनरेगा योजना में मशीन का उपयोग पाए जाने पर संबंधित पदाधिकारी पर कड़ी कार्रवाई होगी.
कहा कि मनरेगा मजदूरों के मजदूरी का तुरंत भुगतान की जाये। कहा कि प्रवासी कामगारों में बड़ी संख्या में कुशल एवं अर्ध कुशल कामगार शामिल है। इसलिए उनके योग्यता के अनुरूप उन्हें कार्य आवंटित की जाये। ताकि उनकी कार्य क्षमता का यथोचित उपयोग हो सके और उसका उन्हें भी लाभ प्राप्त हो सके।
उन्होंने कहा है कि पर्यावरण संरक्षण हेतु राज्य में विगत वर्ष एक महत्वपूर्ण योजना जल-जीवन-हरियाली अभियान प्रारंभ किया गया था। इस अभियान को दुबारा गति प्रदान करनी है। इस योजना के तहत आहर/पैन/पोखर/चेक डेम का उड़ाहीकरण एवं जीर्णोद्धार, नये जल श्रोतों का सृजन, निजी पोखरा का उड़ाहीकरण, भू-गर्भ जल संचयन हेतु सोख्ता का निर्माण, छत वर्षा जल संचयन संयत्र का निर्माण, वृक्षारोपण आदि की अनेकों योजनाओं का कार्य प्रारंभ करने का निदेश दिया गया।
जिलाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम. द्वारा बताया गया कि दरभंगा जिला में जल-जीवन-हरियाली अभियान एवं मनरेगा योजना के तहत नये जल श्रोतों का निर्माण, आहर/पैन/पोखरा का जीर्णोद्धार, सोख्ता का निर्माण, छत वर्षा जल संचयन सयंत्र का निर्माण तेजी से प्रारंभ किया गया है।
प्रधानमंत्री आवास योजना की प्रगति की समीक्षा के क्रम में बताया गया कि जिला में 84,408 युनिट आवास का लक्ष्य है। इसके विरूद्ध 2000 लाभार्थियों का निबंधन एवं 9000 आवासों की स्वीकृति प्रक्रियाधीन है।
उप विकास आयुक्त द्वारा बताया गया कि प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत 21,000 लाभुकों को प्रथम किश्त की राशि 40-40 हज़ार रूपये दे दी गई है और उन्हें तुरंत निर्माण कार्य प्रारंभ करने को कहा गया है। वहीं 17,000 लाभुकों को द्वितीय किश्त की राशि का भी भुगतान किया गया है। इस राशि से उन्हें छत की ढलाई करनी है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण आवास सहायक को सभी योजनाओं का भौतिक स्पॉट निरीक्षण करने एवं इसे ससमय पूर्ण कराने का निदेश दिया गया है।
जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि आवास प्रतीक्षा सूची में शामिल अयोग्य लाभुको को अभियान चलाकर हटाने की कार्रवाई की जा रही है।
सचिव महोदय द्वारा निदेश दिया गया कि भूमिहीन प्रवासी कामगारों को चिन्ह्ति कर उन्हें आवास का लाभ प्रदान की जाये। कहा कि मुख्यमंत्री वास भूमि स्थल क्रय योजना के तहत जमीन क्रय करके भूमिहीन कामगारों को आवास का लाभ प्रदान की जानी है।
लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान की समीक्षा में बताया गया कि 27,922 व्यक्तिगत शौचालय एवं 390 सामुदायिक शौचालय का निर्माण की कार्रवाई प्रारंभ की जा रही है।
इस वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम., उप विकास आयुक्त डॉ. कारी प्रसाद महतो, प्रशिक्षु आई.ए.एस. प्रियंका रानी, कार्यपालक अभियंता, मनरेगा, जिला जल स्वच्छ्ता समन्वयक आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!