*जिला प्रशासन द्वारा जल संकट प्रबंधन पर बेहतरीन कार्य किया गया : उप मुख्यमंत्री*

*जिला प्रशासन द्वारा जल संकट प्रबंधन पर बेहतरीन कार्य किया गया : उप मुख्यमंत्री*

* माननीय उप मुख्यमंत्री, बिहार श्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि दरभंगा जिला के शहरी एवं कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में उत्पन्न गंभीर जल संकट का मुकाबला बेहतरीन तरीके से हुआ है। पानी की कमी की समस्या से जुझ रहे वार्डों में फौरी तौर पर प्रशासन द्वारा टैंकर के माध्यम से पानी पहुँचाया गया जिससे लोगों को तुरंत राहत मिली। वहीं कई वार्डों में बोरिंग कराकर उसमें स्टैंड पोस्ट लगाकर पानी की आपूर्त्ति की गई जो कि काबिले तारीफ है।

उन्होंने कहा कि नल-जल योजना के तहत पाइप बिछाकर घर-घर में पानी पहुँचाने का कार्य साथ-साथ चलाया जा रहा है, जिसके चलते दरभंगा जिला में स्थिति नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि दरभंगा जिला में बाढ़ की समस्या रहती रही है लेकिन जलवायु परिवर्त्तन के कारण इस गर्मी के मौसम में भू-जल स्तर ज्यादा नीचे चला गया जिसके चलते शैलो ट्यूबवेल, 1.5 ईच के पुराने चापाकल आदि ने पानी देना बंद कर दिया। वहीं समस्त प्राकृतिक संसाधनों यथा – पोखर/नाहर, पैन आदि पहले से ही सूखे हुए थे।

जिसके कारण पशुओं के लिए भी पानी की समस्या उत्पन्न हुई। उन्होंने कहा कि बाढ़/सुखाड़ की तहत वर्त्तमान जल संकट को भी आपदा की श्रेणी में रखकर इसका निराकरण करने का प्रयास जारी है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने 31 मार्च 2020 के पहले हर घर में नल का जल पहुँचाने का लक्ष्य निर्धारित कर दिया है। नल जल योजना के साथ-साथ गली-नाली पक्कीकरण योजना का भी क्रियान्वयन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि दरभंगा नगर निगम के अधिकांश वार्डों में पानी की समस्या बनी हुई है।

नगर क्षेत्र में 20,000 से ज्यादा नल जल का कनेक्शन देनी है। इस कार्य में तेजी लाने का निदेश दिया गया है। उन्होंने कहा कि जिला में शैलो ट्युबवेल में सिलेंडर लगाकर विशेष मरम्मति कराया जा रहा है। साथ-साथ जरूरतमंद वार्डों में नये चापाकल भी गाड़ा जा रहा है।

माननीय उप मुख्यमंत्री श्री मोदी द्वारा सरकार के संकल्प को दोहराया गया कि 15 अगस्त 2019 के पहले शौचालय विहीन घरों में शौचालय का निर्माण करा दिया जायेगा। अनुसूचित जाति, पिछड़े वर्ग बहुल्य गाँवो/टोलों में जहाँ शौचालय बनाने के लिए जगह उपलब्ध नहीं है, उन टोलों में सामुदायिक शौचालय का निर्माण विकल्प के तौर पर कराया जायेगा।


माननीय उप मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके सरकार का यह प्रयास है कि इसी साल सभी किसानों को कृषि कार्य के लिए बिजली का कनेक्शन दे दिया जायेगा। डीजल से सिंचाई करने की तुलना में बिजली से सिंचाई करने पर खर्च काफी कम हो जायेगा। राज्य सरकार द्वारा कृषि कार्य के लिए अत्यंत सस्ता 75 पैसे प्रति युनिट दर पर बिजली उपलब्ध कराई जा रही है।
माननीय उप मुख्यमंत्री द्वारा आशा व्यक्त किया गया कि अब शहरों की तरह गाँवों में भी सारी सुविधाएँ विकसित हो रही है। 24 घंटे बिजली, खाना बनाने के लिए एल.पी.जी. गैस, दूरसंचार की बेहतर कनेक्टिविटी आदि सुविधाएँ लोगों का गाँवों से शहरों की ओर पलायन को रोकने में मददगार साबित होगा।


इसके पूर्व जिला पदाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम. द्वारा वीडियो प्रोजेक्टर पर सरकार के सात निश्चय योजना, बाढ़ पूर्व तैयारी, जल संकट प्रबंधन पर विस्तार से पावर प्वाइंट प्रजेटेशन दिखाया गया।
जिलाधिकारी ने बताया कि वर्ष 2019 में मात्र 105.76 एम.एम. वर्षापात हुई है जो सामान्य वर्षा से 40 प्रतिशत् कम है। भू-जल स्तर के नीचे जाने के कारण बेनीपुर प्रखण्ड का 06 पंचायत एवं बहादुरपुर प्रखण्ड के 09 पंचायतों में जल संकट का ज्यादा सामना करना पड़ा है। प्रशासन द्वारा जल संकट का मुकाबला करने हेतु हर संभव संसाधनों का उपयोग किया गया। शुद्ध पानी लोगों को बराबर मिल सके इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों के क्रिटिकल वार्डों में 255 नये चापाकल गाड़ा गया है और अतिरिक्त 285 नये चापाकल की माँग विभाग से किया गया है। 180 शैलो ट्यूबवेल की विशेष मरम्मति कराकर इसका कनवर्जन कराया गया है और 2249 खराब चापाकलों की मरम्मति कर चालू करा दिया गया है। पानी की ज्यादा कमी वाले वार्डों में पानी तुरंत पहुँचाने हेतु 22 टैंकर को कार्य पर लगाया गया है। इन टैंकरों से एक दिन में 03 से 04 ट्रिप लगाकर पानी पहुँचाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दरभंगा नगर निगम के सभी वार्डों में पाइप से जलापूर्त्ति योजना पर कार्य चल रहा है। इसमें 12 वार्डों में अभी तक पाईप लाइन नहीं बिछाया गया है। समस्याग्रस्त वार्डों में नगर निगम द्वारा इंडिया मार्का – II के 720 चापाकल गाड़ा गया है जिनमें से 712 चापाकल चालू हालत में है। इसके साथ ही पी.एच.ई.डी. द्वारा इंडिया मार्का – II के कुल 559 चापाकल गाड़ा गया है, जिसमें से 523 चापाकल चालू है।
जिलाधिकारी ने बताया कि दरभंगा शहरी क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!