जिलाधिकारी ने किया बाढ़ पूर्व तैयारी की समीक्षा।

जिलाधिकारी ने किया बाढ़ पूर्व तैयारी की समीक्षा।

जल संसाधन विभाग के अभियंता को तटबंध स्ट्रेंगथनिंग कार्य दो दिनों में पूरा करने का निदेश।

सभी सीओ को बाढ़ प्रवण पंचायतों में नावों की 24 घंटे उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश.

आपदा प्रबंधन विभाग के एस.ओ.पी. के तहत शरण स्थली में सभी सुविधाएं रखने का निदेश।
जिलाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम. द्वारा जिला में कार्यरत सभी जल निस्सरण प्रमण्डल एवं बाढ़ नियंत्रण प्रमण्डल के अभियन्तागणों को सभी तटबंधों के क्षतिग्रस्त भाग की मरम्मति एवं कमजोर बिन्दुओं की स्ट्रेंगथनिंग / मजबूतीकरण का कार्य दो दिनों में पूरा कर लेने का निदेश दिया गया है।

कहा है कि सभी तटबंधों के मजबूतीकरण का कार्य युद्ध स्तर पर की जाये। मौसम विभाग के पूर्वानुमान में कहा गया है कि अगले दो दिनों में उत्तरी बिहार एवं नेपाल के तराई क्षेत्रों में अत्यधिक वर्षा होने की संभावना है। इन क्षेत्रों में एक साथ ज्यादा मात्रा में बारिश होने पर दरभंगा जिला के सभी नदियों के जलस्तर में वृद्धि होने की संभावना रहेगी और तटबंधों पर दवाब रहेगा। उन्होंने कहा है कि जिला में अवस्थित सभी बांधों / तटबंधों के सभी रेन कट एवं रैट होल को तुरंत पैकिंग कर दी जाये। उन्होंने ये बातें कार्यालय प्रकोष्ठ में आयोजित बाढ़ पूर्व तैयारी की समीक्षा बैठक में कहीं है।
इस बैठक में जिलाधिकारी द्वारा सभी एसडीओ एवं सीओ के निरीक्षण प्रतिवेदन के आलोक में अंचलवार सभी तटबंध एवं बांधों के मरम्मति कार्य प्रगति की समीक्षा किया गया. उनके निदेश के आलोक में सभी अनुमण्डल पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी द्वारा पूर्ब में ही उनके क्षेत्राधीन पड़ने वाले तटबंधों / बांधों का भौतिक निरीक्षण किया गया था। अंचलाधिकारी, घनश्यामपुर द्वारा बताया गया कि बूढे इनायतपुर के 68-71 वें किलोमीटर तटबंध भाग में 14-15 जगहों पर रैट होल एवं रेन कट है। इसमें से 08 रैट होल की पैकिंग कर दी गई है, लेकिन रेन कट के सिलिंग करने का कार्य पूरा नहीं हुआ है।
बताया गया कि घनश्यामपुर अंचल अन्तर्गत 12-15 जगहों पर रैट होल पैकिंग का कार्य बाकी है। वहीं फ्लड फाइटिंग के तौर पर बांध पर अभी तक मात्र 30 हजार बैग ही रखा गया है। अनुमण्डल पदाधिकारी, बिरौल द्वारा बताया गया कि गौड़ाबौराम के असरा पंचायत में तटबंध की तुरंत मरम्मति कराना आवश्यक है।
अंचलाधिकारी, तारडीह द्वारा बताया गया कि 03 टूटान स्थलों को बांधने का कार्य किया जा रहा है। पुरानी कमला नदी में स्लूइस गेट के रिसाव को पैकिंग करने का कार्य चल रहा है। अंचलाधिकारी, केवटी द्वारा बताया गया कि दरभंगा बागमती नदी के भटौरा बांध पर कार्य की गति धीमी है। कोठिया में मरम्मति का कार्य शुरू नहीं हुआ है। अंचलाधिकारी, जाले द्वारा बताया गया कि खिरोई तटबंध पर भगौल, मुरैठा, सोरिया, सगरपुर, पैनी में तटबंधो में रैट होल की पैकिंग कार्य को तेज करने की जरूरत है।
बहादुरपुर के अंचलाधिकारी द्वारा बताया गया कि सिरनिया बांध तटबंध में रेन कट को फिलिंग करने का कार्य धीमी है। अंचलाधिकारी, सिंहवाड़ा द्वारा बताया गया कि खिरोई नदी के शाखा में जमींदारी बांध की मजबूतीकरण का कार्य किया जा रहा है। अंचलाधिकारी, बहेड़ी द्वारा बताया गया कि भरनिया एवं दगवा स्लूइस गेट के रिसाव को बंद करने का कार्य किया जा रहा है।
जिलाधिकारी ने बाढ़ प्रवण सभी अंचलो में संबंधित पदाधिकारियों के द्वारा बताये गये उपरोक्त तटबंधो के मजबूतीकरण कार्य को युद्धस्तर पर चलाकर दो दिनों में पूरा करने का निदेश संबंधित जल निस्सारण प्रमण्डल एवं बाढ़ नियंत्रण प्रमण्डल के कार्यपालक अभियंता को दिया है।
उन्होंने कहा है कि ड्रेनेज एवं फ्लड डिवीजन के ए.ई./जे.ई. संबंधित अंचल के अंचलाधिकारी एवं थाना प्रभारी के साथ डेली तटबंधो का निरीक्षण करेंगे एवं कमजोर बिन्दुओं को तत्परता पूर्वक दुरूस्त करायेंगे। कहा कि इस कार्य में थोड़ी भी ढ़िलाई अथवा शिथिलता पाये जाने पर सबंधित अधिकारियों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जायेगी।
वहीं अंचलों में नाव की उपलब्धता की समीक्षा में पाया गया कि केवटी, जाले, सदर, अलीनगर, तारडीह, मनीगाछी अंचलाधिकारी द्वारा पर्याप्त नाव की व्यवस्था नहीं किया गया है।
कहा कि बाढ़ से जान-माल की रक्षा में नाव की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसलिए नाव की उपलब्धता को हल्के से लेने पर उक्त सभी अंचलाधिकारी को कारण पृच्छा किया गया है.कहा है कि आपदा कानून के तहत क्यों नहीं उनके विरूद्ध कार्रवाई की जाये।
जिलाधिकारी ने कहा है कि दरभंगा जिला में विगत वर्षों में भी बाढ़ आते रहे है। बाढ़ का पानी गांवो में फैल जाने पर लोगों को सुरक्षित बाहर निकालकर बाढ़ आश्रय स्थलों में उन्हें पुरे सम्मान के साथ रखनी है। इसलिए सभी बाढ़ प्रभावित पंचायतों में पर्याप्त

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!