चाइल्ड लाइन की शाम्भवी को मिला माता पिता का प्यार.

चाइल्ड लाइन की शाम्भवी को मिला माता पिता का प्यार.
आज दिनांक 26.02.2020 को जिला पदाधिकारी डॉ त्यागराजन एस एम की गरिमामयी उपस्थिति में विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान के संरक्षण में आवासित 7 माह की प्यारी बच्ची शाम्भवी को उसके दत्तक माता-पिता कलकत्ता निवासी श्रीमती वैशाखी बनर्जी एवम श्री अर्पणा बनर्जी को सभी वैधानिक प्रक्रिया पूर्ण कर पूर्व पालक देख रेख हेतु सुपुर्द किया गया. यह किसी अनाथ बच्चे को किसी दम्पत्ति द्वारा गोद लेने की प्रक्रिया का अंतिम पड़ाव हैं ।


सहायक निदेशक, ज़िला बाल संरक्षण इकाई, दरभंगा रविशंकर तिवारी द्वारा बताया गया हैं की श्री बनर्जी पेशे से इंजीनियर हैं एवं श्रीमती बनर्जी एक गृहणी हैं। इनकी अपनी कोई संतान नहीं है। दत्तक ग्रहण की सम्पूर्ण प्रक्रिया cara.nic.in के वेबसाइट पर पंजीकरण के बाद वैधानिक प्रक्रिया पूर्ण कर की जाती है।
विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान में 0 से 6 साल के ऐसे बच्चों को आवासित किया जाता है जिन्हें माता पिता द्वारा परित्याग कर दिया गया है। ऐसे बच्चे – बच्चियों को चाइल्डलाइन (टोल फ्री नंबर -1098), पुलिस, स्वास्थ्य केंद्र, आम नागरिकों द्वारा सूचना देकर सुपुर्द किया जाता है. गोद लेने की एकमात्र यही विधिक प्रक्रिया है।
ज़िला पदाधिकारी डॉ त्यागराजन एस. एम. ने शाम्भवी के दत्तक माता पिता को शुभकामनाएं दी एवं शाम्भवी के उज्ज्वल भविष्य की कामना की।
इस अवसर पर विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान के समन्वयक त्रिभुवन नाथ मिश्रा एवं ए.एन.एम. सोनी कुमारी आदि उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!