डीएम ने माननीय मुख्यमंत्री को अवगत कराया जिले की स्थिति

Darbhanga


बाढ़ राहत कार्य का लिया गया ऑनलाइन फीडबैक*
*डीएम ने माननीय मुख्यमंत्री को अवगत कराया जिले की स्थिति*
*88000 परिवार को दी गयी 6000 कि साहाय्य राशि*
*53 करोड़ 47 लाख 74 हजार रूपये भेजे गए खाते में*

दरभंगा, 29 जुलाई 2020, बाढ़ प्रभावित परिवारों को पी.एफ.एम.एस. प्रणाली के माध्यम से प्रति परिवार 06-06 हजार रूपए की नगद सहायता राशि भेज दी गयी है।

दरभंगा, 29 जुलाई 2020, माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने आज बाढ़ प्रभावित परिवारों से ऑनलाइन बातचीत कर उनका हालचाल जाना है तथा सरकार द्वारा चलाए जा रहे बाढ़ राहत कार्य एवं बाढ़ निरोधक कार्य के संबंध में फीडबैक लिया।
सभी प्रकार के फ्लेक्स प्रिंटिंग के लिए हमसे संपर्क करें
सर्वप्रथम जिलाधिकारी दरभंगा डॉक्टर त्यागराजन एस एम ने दरभंगा जिले की बाढ़ की स्थिति से माननीय मुख्यमंत्री महोदय को अवगत कराते हुए बताया कि दरभंगा जिले में 20 एवं 22 जुलाई के बीच भारी बारिश हुई तथा नेपाल की तराई क्षेत्र में भी भारी बारिश होने के कारण अधवाड़ा समूह की नदी में पानी आया जिससे दरभंगा के उत्तरी क्षेत्र में तथा बागमती के बायां तटबन्ध के समीप के 14 प्रखंड बाढ़ से प्रभावित हो गए हैं, जिनमें 173 पंचायत प्रभावित हैं जिनमें 116 पूर्व तथा 57 अंशतः प्रभावित हैं। वर्तमान में 13लाख 51हजार 200 लोग प्रभावित हैं। कमला तथा कोसी नदी के पेट में 26 पंचायत के 121 गांव अवस्थित हैं। एनडीआरएफ की 3 टीम लगी हुईं हैं, जिनके द्वारा 88 लोगों को रेस्क्यू कर बचाया गया है, जिनमें 23 महिलाएं भी हैं और उनमें गर्भवती महिलाएं भी शामिल हैं। 431 सामुदायिक किचन चलाया जा रहा है जिनमें अब तक 7 लाख 15 हजार 904 लोगों ने भोजन किया है 28 तारीख को 1लाख 53 हजार 927 लोगों ने भोजन किया।
सामुदायिक रसोई में कोविड-19 से सुरक्षा व बचाव का भी अनुपालन कराया जा रहा है। साथ ही टेक होम का परिचालन भी किया जा रहा है। परिवार के 1 लोग आते हैं पंजी में हस्ताक्षर कर अपने परिवार के लिए भोजन ले जाते हैं। अब तक 25114 लोगों के बीच पॉलिथीन शीट का वितरण किया गया है। 18 गांव पूरी प्रकार संपर्क विहीन हो गए हैं, जहां 6060 सूखा राहत पैकेट एयर ड्रॉप किया गया है बाढ़ प्रभावित लोगों की सुविधा के लिए आवागमन की सुविधा के लिए 381 नावों का परिचालन करवाया जा रहा है जिसमें 338 निजी तथा 43 सरकारी नाव शामिल हैं। 300 किलोग्राम ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव करवाया गया है। पेयजल के लिए 70 जरीकेन, 17 वाटर टैंकर द्वारा पानी पहुँचाया जा रहा है। अब तक 250 क्विंटल पशु चारा उपलब्ध कराया गया है। 88000 लोगों के खाता में पी एफ एम एस के माध्यम से 6000 की दर से साहाय्य राशि उपलब्ध करायी गयी है। 90% लोगों के खाते में राशि प्राप्त भी हो चुकी है। 03 लाख परिवारों के खाता में 4 दिनों के अंदर राशि भेज दी जाएगी।
उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्र से पानी निकलने में थोड़ा विलंब हो रहा है। पानी खत्म होने के उपरांत फसल क्षति का आकलन करा लिया जाएगा। 89% क्षेत्र में रोपनी हुई थी। वैकल्पिक फसल की भी व्यवस्था की जा रही है। जान-माल की क्षति में अभी तक 7 लोगों की मृत्यु हुई है, जिन्हें एसओपी के तहत प्रत्येक मृतक के परिजन को 4-4 लाख रुपये का चेक उपलब्ध कराया जा चुका है। 10 कच्चा झोपड़ी की क्षति हुई है। 3 पावर सब स्टेशन में बिजली की समस्या थी जिसे चालू करा दिया गया है।
सड़क क्षति का आकलन नहीं हो सका है, पानी उतर जाएगा तो आकलन किया जाएगा।
इसके उपरांत केवटी अंचल के ब्लू बेल्स स्कूल में आयोजित ऑनलाइन कार्यक्रम द्वारा असराहा पंचायत के मदरसा रहमानिया के बाढ़ प्रभावित महिलाओं एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि से माननीय मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन बातचीत की तथा बढ़ राहत व बचाव कार्य का फीडबैक लिया।
असराहा पंचायत के मुखिया पति खुर्शीद आलम ने बताया कि इस पंचायत के 2500 परिवार बाढ़ प्रभावित हैं, जिनमें से 2200 परिवार को 6000 की साहाय्य राशि प्राप्त हो गई है। 21 जुलाई को असराहा पंचायत बाढ़ प्रभावित हो गया था। जिला पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी द्वारा तत्परता दिखाते हुए हरसंभव राहत कार्य चलाया गया है। वर्तमान में 4 सामुदायिक रसोई कार्यरत है, जिनमें बाढ़ प्रभावित लोगो को भोजन कराया जा रहा है। एनडीआरएफ की एक टीम तथा एक सरकारी नाव कार्यरत है। एनडीआरएफ टीम द्वारा एक गर्भवती महिला को ले जाकर इलाज कराकर वापस गांव पहुंचाया गया है। मेडिकल कैंप चल रहा है लोगों का इलाज किया जा रहा है एवं निःशुल्क दवा भी उपलब्ध कराई जा रही है। बाढ़ का पानी धीरे-धीरे निकल रहा है।
बाढ़ प्रभावित महिला शकीला खातून, मुन्नी बेगम एवं हुस्ना बेगम ने बारी बारी से बताया कि बाढ़ के दौरान उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई। जिलाधिकारी एवं अंचलाधिकारी क्षेत्र में आते रहते हैं। उन्हें भोजन भी मिलता रहा है, 6000 रुपये भी मिल गया है। मुखिया जी एवं स्थानीय पदाधिका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *