राज्यसभा सीट को लेकर कांग्रेस-आरजेडी में खींचतान, एक दूसरे को याद दिला रहे किए वादे

Politics

देशभर के कई राज्यों में राज्यसभा की कई सीटें खाली हो रही हैं. बिहार में 5 राज्यसभा सांसदों का कार्यकाल खत्म हो रहा है. इसका मतलब है कि नए राज्यसभा सदस्यों का चुनाव भी होगा. अब इसके संकेत मिले ही हैं कि इसको लेकर सियासी गलियारे में बवाल शुरू होने लगा है, खासकर महागठबंधन के दो बड़े घटक दलों के बीच.

दरअसल, राज्यसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने आरजेडी से अपने हक की मांग मुखर कर दी है. कांग्रेस विधायक अजित शर्मा ने कहा है कि हम महागठबंधन में हैं और राज्यसभा को लेकर आरजेडी को हमे सहयोग करना चाहिए. गठबंधन की शर्तों के मुताबिक हमें एक सीट मिलनी चाहिए.

इसके बाद कांग्रेस के एक और विधायक आनंद शंकर ने भी इसी बात की पैरवी की है. उनका कहना है कि आरजेडी ने पिछले दिनों सार्वजनिक रूप से घोषणा की थी कि वह महागठबंधन धर्म का पालन करते हुए कांग्रेस को एक सीट पर अधिकार देंगे. 
इस पर हालांकि आरजेडी ने फिलहाल कुछ भी खुल कर बोलने से बच रही है. आरजेडी विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि सीटों पर फैसला शीर्ष नेतृत्व को करना है. इस पर हम अभी कुछ नहीं कह सकते हैं. 

वहीं बीजेपी ने इस पर तंज कसना शुरू कर दिया है. बीजेपी विधायक संजय सरावगी ने कहा कि इनलोगों ने एमएलसी और एमपी के नाम पर बहुतों के कान फूंके हैं. देखिए किसको क्या मिलता है. सिर्फ कैंडिडेट की घोषणा तो करें फिर देखिए कैसे भगदड़ मच जाती है. 

बता दें कि बिहार में खाली हो रही 5 राज्यसभा सीटों में से 2 सीटें महागठबंधन को मिलती दिख रही हैं. आंकड़े यह कह रहे हैं कि 2 सीट महागठबंधन को तो 3 सीट एनडीए के खाते में आने वाली है.  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *