गणेश उत्सव एवं मुहर्रम जुलूस के लिए लाईसेंस लेना अनिवार्य होगा:जिला अधिकारी

Darbhanga Other

जिला पदाधिकारी, दरभंगा डाॅ. त्यागराजन एस.एम. एवं वरीय पुलिस अधीक्षक श्री बाबुराम द्वारा जिलाधिकारी के कार्यालय प्रकोष्ठ में एक बैठक आयोजित कर गणेश उत्सव एवं मुहर्रम त्यौहार को पूर्ण शांतिपूर्ण सम्पन्न कराने हेतु प्रशासनिक व्यवस्था की समीक्षा किया गया।
जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक ने बैठक में उपस्थित सभी पदाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी को इस अवसर पर पूर्ण सतर्क एवं चैकस रहने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने कहा कि इस अवसर पर सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किया जाए। संवेदनशील स्थलों पर पूर्ण चैकसी बरती जाए। इसके साथ ही संवेदनशील एवं पूर्व के घटना वाले स्थलों पर सशस्त्र बल के साथ दण्डाधिकारी द्वारा लगातार गश्ती की जाये। गणेश उत्सव के आयोजक एवं मुहर्रम समिति की अपने-अपने थाना क्षेत्रों में एक साथ बैठक बुलाकर उन्हें इस त्यौहार को शांतिपूर्ण सम्पन्न कराने हेतु कहा जायें । उन्हें यह भी बताया जाय कि अखाड़ा या जुलूस निकालने के लिए प्रशासन से लाईसेंस लेना अनिवार्य होगा।

जिस रूट में पहले से जुलूस निकाली जाती रही है, उसमें कोई परिवर्तन नहीं होगा। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि आयोजकों को अलग-अलग इवेंट के लिए अलग-अलग अनुज्ञप्ति लेना होगा। इस अवसर पर बाजार, मेला स्थल, पूजा स्थल, जुलसू या कही भी डी.जे बजाने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने कहा कि इस बार इस वर्ष गणेश उत्सव एवं मुहर्रम दोनों साथ-साथ आयोजित किये जा रहे है।
दोनों धर्मों को मानने वाले श्रद्वालु अपने आस्था एवं रीति-रिवाज के अनुसार इसे मनाएंगे । गणेश उत्सव एवं मुहर्रम त्यौहार के अवसर पर विधि-व्यवस्था बनाये रखने हेतु जिला प्रशासन द्वारा पूरी चाक-चैबंद व्यवस्था की गई है। इसमें किसी भी प्रकार की गड़बड़ी किये जाने पर दोषी व्यक्तियों को चिन्ह्ति करते हुए उनके विरूद्ध कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

वरीय पुलिस अधीक्षक श्री बाबुराम ने सभी अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी एवं थाना प्रभारी को निर्देश दिया कि कहीं भी डी.जे. बजाते हुए पाये जाने पर गाड़ी सहित उपकरण जप्त कर संचालक के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की जाये। वहीं मुहर्रम जुलूस में घातक हथियार के साथ प्रदर्शन नहीं करने लिए उन्हें समझाया जाये। घातक हथियार बेचने वाले दुकानों पर छापामारी कर उन्हें जप्त किया जाय और उनके विरूद्ध सुसंगत धारा के तहत कार्रवाई भी जाए।

जिलाधिकारी ने सभी थाना प्रभारी को ऐसे सभी स्थलों की सूची सौंपने को कहा है जहां विधि-व्यवस्था के मद्देनजर दण्डाधिकारी की प्रतिनियुक्ति आवश्यक होगी और सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाना उपयुक्त होगा। उन्होंने कहा कि हरहाल में जुलूस में शामिल भीड़ को नियंत्रण में रखा जाय। इसमें शामिल अपराधिक तत्व कोई गड़बड़ी करते है तो उनके विरूद्ध तुरंत कार्रवाई की जाय।

गणेश उत्सव के लिए बनाये गये पंडालों में बिजली की तारों की जांच करा ली जाए। अग्निशमण विभाग एवं भवन निर्माण विभाग से भी सुरक्षा मानकों की जाँच करायी जाए। सभी पंडालों में सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाये जाय। साथ ही वहां बैनर या फ्लेक्सी लगाकर यह भी प्रदर्शित किया जा कि आप सी.सी.टी.वी. कैमरे के नजर में है। वरीय पुलिस अधीक्षक ने यातायात थाना प्रभारी को नये परिवहन अधिनियम के प्रावधानों का पूरी कड़ाई से पालन कराने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि परिवहन नियमों का उल्लंघन करने वालों पर परिवहन अधिनियम में संसूचित आर्थिक दण्ड अधिरोपित कराया जाए। शहर में वन-वे ट्रेफिक नियम का उल्लंघन करने वाले के विरूद्ध सख्ती से पेश आया जाय। साथ ही जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा इन दोनों त्यौहारों को शांतिपूर्ण एवं सदभाव पूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराने हेतु दोनों संप्रदायों के आयोजकों से अपील किया गया है।

इस बैठक में नगर पुलिस अधीक्षक श्री योगेन्द्र कुमार, सहायक समाहर्ता विनोद दूहन, अपर समाहर्ता श्री विभूति रंजन चैधरी, अनुमण्डल पदाधिकारी, बिरौल श्री बज्र किशोर लाल, अनुमण्डल पदाधिकारी, बेनीपुर श्री प्रदीप कुमार झा, अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी सदर श्री अनोज कुमार, डी.सी.एल.आर. सदर श्री पुष्पेश कुमार, डी.सी.एल.आर, बेनीपुर/बिरौल, एस.डी.पी.ओ., बेनीपुर/बिरौल, दरभंगा नगर क्षेत्र के सभी थाना प्रभारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *