यात्री लोक उत्सव आज दूसरे दिन हुआ सम्पन्न, किसान चाची ने कहा महिला अवला नहीं सबला है…!!!

Darbhanga

यात्री लोक उत्सव आज दूसरे दिन हुआ सम्पन्न, किसान चाची ने कहा महिला अवला नहीं सबला है…!!!


नागार्जुन कर्पूरी स्टेडियम में दो दिवसीय यात्री लोक उत्सव के दूसरी दिन प्रथम सत्र में सबला वर्त्तमान और भविष्य विषय पर सम्मानित अतिथियों ने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि पद्मश्री किसान चाची ने कहा कि महिला अवला नहीं सबला है। महिला समाज को यह बात समझनी पड़ेगी कि इस समाज में हमारा वह सब अधिकार है जो पुरूष को मिला है। संवैधानिक तौर पर हमारी समान भागीदारी है। उन्होंने बताया कि मेरे प्रयासों की जानकारी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और वह मेरे घर आये किसान चाची के नाम से आचार का प्रोडक्ट घोषणा किया गया। उन्होंने बताया कि अमिताभ बच्चन ने मुझे कौन बनेगा करोड़पति में बुलाया और मुझे पद्मश्री सम्मान भी मिला। नेपाल की साहित्यकार विभा झा और साहित्यिक वेबसाईट कविताकोष की संचिलिका शारदा सुमन ने संयुक्त रूप से नारी सशक्तिकरण को लेकर गृह उद्योग की शुरूआत की। वहीं दूसरे सत्र में राजनीतिक एवं सामाजिक संगठनों के व्यक्तियों ने हिस्सा लिया। इस मौके पर प्रवीण नारायण चौधरी ने कहा कि नेताओं को पाग-चादर चढ़ाने से मिथिला का विकास संभव नहीं। मिथिला में न्याय प्रक्रिया खत्म होने के कारण यहां का विकास खत्म हो रहा है।

मिथिला को राजा जनक के समय में चल रहे न्याय प्रक्रिया एवं शिक्षा के लोकाचार्य पर बल देने की जरूरत है। इस मौके पर चेतना समिति के अध्यक्ष विवेकानन्द झा, सीतामढ़ी के संजय सिंह, सहरसा के सोहन झा, समस्तीपुर के कुणाल, मधुबनी के सुजायकांत ठाकुर आदि ने विचार व्यक्त किये। यात्री लोक उत्सव में छात्र संसद का भी आयोजन किया गया जिसका मुख्य मुद्दा मिथिला डेवलोपमेन्ट बोर्ड था जो पटना विश्वविद्यालय के संयुक्त सचिब एवं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के युवा नेता राजा रवि के नेतृत्व में सम्पन्न हुआ। जिसमे प्रथम पुरस्कार से मनीगाछी प्रखंड अंतर्गत मौंभेट गांव के सुमित मौंभेटिया को किया गया। इस मौके पर सुमित मौंभेटिया ने खुशी का जिक्र करते हुए कहा कि हम सभी युवाओ को मिथिला डेवलोपमेन्ट बोर्ड को लेकर आवाज बुलंद करना चाहिए।

उन्होंने यात्री लोक उत्सव के अध्यक्ष रजनीश प्रियदर्शी को धन्यवाद का पात्र बताते हुए सभी यूनियन के सदस्यों को धन्यवाद दिया। कार्यक्रम का संचालन सहरसा के किसले कृष्ण ने किया। तीसरे सत्र में छात्र संसद के विभिन्न छात्र संगठनों के लोगों ने भाग लिया। जिसमें जल संकट और मिथिला विकास बोर्ड को लेकर चर्चा की गई। इस मौके पर सोनू आनन्द, सागर नवोदिया, रजनीश प्रियदर्शी, कृष्णनन्द मिश्रा, बलराम झा, संतोष मिश्रा, राजकिशोर आदि ने भाग लिया। धन्यवाद ज्ञापन कमल सेठ ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *