दरभंगा में अनोखा शादी,ई-रिक्शा से पहुंचा दूल्हा तो डोली में हुई दुल्हन की विदाई

Other

शनिवार को शहर में एक अनोखी शादी हुई जिसमे ना फिजुलखर्ची हुई, ना शोर-शराबा, ना आडंबर। इसके बदले शादी में लोगों को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया। वर महंगी कार में नहीं, फूलों से सजे ई-रिक्शा में सवार होकर पहुंचे। वधु भी पारंपरिक डोली में विदा हुई। यह प्रयास जूनियर साइंटिस्ट क्लब की ओर से की गई जो शहर में चर्चा का विषय बनी रही। शादी के समारोह का उदघाटन राज परिसर स्थित श्यामा माई विवाह भवन में लनामिविवि के कुलपति प्रो. सुरेंद्र कुमार सिंह व मेयर वैजंती खेड़िया ने किया।

इस अवसर पर दोनों अतिथियों ने पौधरोपण कर ग्लोबल वार्मिंग के खिलाफ अपना संदेश भी दिया। क्लब की ओर से सामाजिक मसलों व पर्यावरणीय खतरों के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए इस शादी समारोह को ही माध्यम बनाया गया। क्लब के संस्थापक श्रवण कुमार की शादी में कई नए प्रयोग किए गए। शादी के माध्यम से लोगों को अपनी संस्कृति से जुड़ने की अपील कर गई। ग्लोबल वार्मिंग के प्रति लोगों को जागरूक किया गया, शादी में मिलने वाले उपहारों को समाज हित में उपयोग करना व पर्यावरणीय खतरे को कम करने के लिए इस अवसर पर पौधरोपण इस अभियान का प्रमुख हिस्सा रहा। इस शादी का न्योता देने के लिए महंगे कार्ड नहीं बांटे गए, इसकी जगह गीता बांटी गई। क्लब के सदस्यों का मानना है कि कार्ड कितना भी मंहगा क्यों ना हो, हमारे लिए वह उपयोगी नहीं होता। इसकी जगह मानव जीवन के लिए उपयोगी ग्रंथ गीता से लोगों को ना केवल जीवन का दर्शन प्राप्त होगा, बल्कि गीताप्रेस को जीवित रखने में भी यह अभियान सहायक होगा। शादी में दूल्हा-दुल्हन ने तो पौधरोपण किया ही, उसकी सुरक्षा का भी जिम्मा लिया। इसके साथ ही शादी समारोह में भाग लेने वाले सभी अतिथियों को उपहार स्वरूप पौधे भेंट किए गए।

क्लब की सदस्य अक्षिता ने बताया कि शादी में दूल्हा-दुल्हन को मिलने वाले उपहार की राशि का सामाजिक उपयोग किया जाएगा। यह राशि शहर के मुशा साह मध्य विद्यालय के विकास में खर्च की जाएगी। दुल्हन ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई इसी स्कूल से पूरी की है। शादी समारोह में जागरूकता से संबंधित कई इवेंट्स भी आयोजित किए गए।

1 thought on “दरभंगा में अनोखा शादी,ई-रिक्शा से पहुंचा दूल्हा तो डोली में हुई दुल्हन की विदाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *